इसी महीने से शुरू होने जा रही क्रिकेट विश्वकप प्रतियोगिता के लिए भारतीय टीम आज देर रात इंग्लैंड के लिए रवाना होगी. इससे पहले मंगलवार को ही भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली और टीम के प्रमुख कोच रवि शास्त्री ने मुंबई में एक संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस की. खबरों के मुताबिक इस मौके पर विराट कोहली ने विश्वकप को अपने और टीम के लिए बेहद ‘चुनौतीपूर्ण’ बताया. साथ ही यह भी कहा कि इस प्रतियोगिता में शामिल होने वाली सभी टीमें बेहतरीन हैं. ऐसे में हर मैच जीतने के लिए उनकी टीम को कड़ी मेहनत करनी होगी.

विराट कोहली ने आगे कहा कि विश्वकप की तैयारी में टीम को आईपीएल से मदद मिली है. टीम के खिलाड़ी तरोताजा होने के साथ इस प्रतियोगिता में शानदार प्रदर्शन करने को बेताब हैं. कोहली के मुताबिक टीम के लिए सबसे जरूरी बात इन मैचों में ‘दबाव’ का सामना करना होगा. इस प्रतियोगिता में किसी भी विपक्षी टीम को कमतर आंकना गलत रहेगा इसलिए भारत को अपना हर मुकाबला पूरी ताकत के साथ खेलना होगा.

वहीं रवि शास्त्री ने कहा कि इस प्रतियोगिता को लेकर खिलाड़ियों पर किसी तरह का अतिरिक्त ‘दबाव’ नहीं है. टीम को निरंतरता बनाए रखनी होगी. इसके साथ ही पूछे गए एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि पूर्व कप्तान और विकेटकीपर बल्लेबाज महेंद्र सिंह धोनी की भूमिका इस विश्वकप अहम होगी. उनका अनुभव टीम के काम आएगा. इस मौके पर रवि शास्त्री ने यह भी कहा कि अगर टीम के सभी खिलाड़ी अपनी क्षमता के अनुरूप खेले तो निश्चय ही भारत एक बार फिर विश्व विजेता बन सकता है.

साल 2019 का यह विश्वकप राउंड रॉबिन आधार पर खेला जाएगा. यानी इस प्रतियोगिता में हिस्सा लेने वाली सभी टीमें एक-दूसरे से टकराएंगी. साथ ही अंकों के आधार पर शीर्ष की चार टीमें सेमीफाइनल में जगह बनाएंगी और उसके बाद 14 जुलाई को विश्व चैंपियन के निर्धारण वाला फाइनल मुकाबला खेला जाएगा. इस प्रतियोगिता में भारत के अभियान की शुरुआत पांच जून से दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ होगी.