भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के बहुप्रतीक्षित चुनाव का रास्ता साफ हो गया है. बोर्ड के प्रशासकों की समिति (सीओए) की ओर से बताया गया है कि ये चुनाव इसी साल 22 अक्टूबर को होंगे.

समाचार एजेंसी पीटीआई-भाषा के मुताबिक सीओए ने सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त न्यायमित्र पीएस नरसिम्हा से सलाह के बाद चुनाव तारीखों की घोषणा की. इस बाबत हुई बैठक में सीओए के प्रमुख विनोद राय के साथ सदस्य डायना एडुल्जी और रवि थोगड़े भी शामिल हुए. बैठक में राज्य क्रिकेट संघों के चुनाव 14 सितंबर तक कराने का फैसला भी किया गया है.

बैठक के बाद विनोद राय ने कहा, ‘जब उच्चतम न्यायालय ने मुझे नियुक्त किया तो मैंने कहा था कि मैं नाइटवॉचमैन (कुछ समय के लिए अस्थायी व्यवस्था) की भूमिका निभाउंगा. हालांकि यह नाइटवॉचमैन काफी लंबे समय तक बना रहा. लेकिन हम मानते है कि लोकतंत्रिक तरीके से चुनी हुई इकाई को ही देश में क्रिकेट का संचालन करना चाहिए.’

ग़ौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट ने जनवरी-2017 में लोढ़ा समिति की सिफारिशों को लागू करने के लिए सीओए की नियुक्त की थी. बाद में अदालत ने ही बीते मार्च में नरसिम्हा को विभिन्न राज्य संघों के साथ मध्यस्थता करने के लिए नियुक्त किया था. अदालत के इस दख़ल का नतीज़ा ये हुआ कि वर्तमान में ‘38 में से 30 राज्य क्रिकेट संघ लोढ़ा समिति के सुझावों का पालन कर रहे हैं. जबकि बाकी इन सिफ़ारिशों के मुताबिक अपने संविधान में बदलाव की प्रक्रिया में हैं.’ यह जानकारी राय ने ही दी है.