‘फर्जी एग्जिट पोल के दुष्प्रचार से निराश न हों.’  

— राहुल गांधी, कांग्रेस अध्यक्ष

राहुल गांधी ने यह बात एक ट्वीट के जरिये अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं से कही. इसी ट्वीट से उन्होंने अगले चौबीस घंटे के समय को ‘महत्वपूर्ण’ बताया, साथ ही उन्हें सतर्क रहने के लिए भी कहा. इसके साथ ही राहुल गांधी का यह भी कहना था, ‘आप (कांग्रेस कार्यकर्ता) सत्य के लिए लड़ रहे हैं. खुद पर और कांग्रेस पार्टी पर विश्वास रखें. आपकी मेहनत बेकार नहीं जाएगी.’

‘इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन पर विरोध जताकर विपक्षी दल देश की जनता के जनादेश का अनादर कर रहे हैं.’  

— अमित शाह, भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष

अमित शाह ने यह बात एक ट्वीट के जरिये कही. इसी ट्वीट से उन्होंने यह भी कहा, ‘हार से बौखलाई 22 पार्टियां देश की लोकतांत्रिक प्रक्रिया पर सवाल उठाकर दुनियाभर में देश और लोकतंत्र की छवि को धूमिल कर रही हैं.’ इसके साथ ही अमित शाह का यह भी कहना था, ‘विपक्षी दलों ने ऐसा करके भ्रांति फैलाने का काम किया है. लेकिन हमें इससे प्रभावित हुए बिना हमारे प्रजातांत्रिक संस्थानों को और मजबूत करने का प्रयास करना चाहिए.’


‘केंद्र में भाजपा सरकार बनने के छह माह के भीतर पश्चिम बंगाल में राज्य विधानसभा के चुनाव होंगे.’  

— राहुल सिन्हा, भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय सचिव

राहुल सिन्हा ने यह बात बीबीसी को दिए एक इंटरव्यू में कही. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि उस चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की जीत होगी. इस मौके पर उनका यह भी कहना था, ‘लोकसभा के इस चुनाव में तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) का सर्वनाश होने जा रहा है.’ राहुल सिन्हा ने इसका कारण खुद टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी को बताया. उन्होंने कहा, ‘ममता बनर्जी ने हिंदू-मुसलमान का कार्ड खेलकर सांप्रदायिक विभाजन किया जिससे हिंदुओं के मन में डर व्याप्त हो गया.’


‘भाजपा ने कमलनाथ सरकार को बहुमत साबित करने के लिए नहीं कहा.’  

— शिवराज सिंह चौहान, भाजपा के वरिष्ठ नेता

शिवराज सिंह चौहान ने यह बात मध्य प्रदेश के भोपाल में पत्रकारों के साथ बातचीत के दौरान कही. इस मौके पर उन्होंने यह भी कहा, ‘भाजपा ने प्रदेश की राज्यपाल आनंदी बेन पटेल को चिट्ठी जरूर लिखी थी. लेकिन उसके जरिये उनसे विशेष सत्र बुलाने की अपील की गई थी ताकि पेयजल, कानून-व्यवस्था, किसानों के बकाये के भुगतान जैसे मुद्दों पर चर्चा की जा सके.’ इसके साथ ही शिवराज सिंह चौहान ने यह भी कहा, ‘हमारा जोड़-तोड़ की राजनीति में कोई विश्वास नहीं. खुद कांग्रेस में ही अपनी सरकार गिराने के लक्षण दिखाई दे रहे हैं.’


‘एक खिलाड़ी के दम पर कोई प्रतियोगिता नहीं जीती जा सकती.’  

— सचिन तेंदुलकर, भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व सलामी बल्लेबाज

सचिन तेंदुलकर ने यह बात क्रिकेट की विश्वकप प्रतियोगिता को लेकर भारतीय टीम को नसीहत देते हुए कही है. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा, ‘आपके पास हर मैच में उम्दा प्रदर्शन करने वाले कुछ खिलाड़ी होते हैं. लेकिन टीम के दूसरे सदस्यों के सहयोग के बिना वे कुछ नहीं कर सकते.’ सचिन तेंदुलकर ने आगे कहा, ‘टीम के दूसरे खिलाड़ियों को भी अलग-अलग मौकों पर अपनी भूमिका निभानी होगी. अगर ऐसा नहीं हुआ तो निराशा ही हाथ लगेगी.’