ओडिशा में नवीन पटनायक का पांचवीं बार भी मुख्यमंत्री बनना तय दिख रहा है. विधानसभा की 147 में से 143 सीटों के रुझान आ चुके हैं और इनके मुताबिक उनकी पार्टी बीजू जनता दल 100 सीटों पर आगे है. इस तरह से देखें तो वह बहुमत के लिए जरूरी 74 का आंकड़ा आराम से पार करती दिख रही है. यहां भाजपा ने भी अपना प्रदर्शन सुधारा है और वह दूसरे स्थान पर है. पार्टी 30 सीटों पर आगे चल रही है. कांग्रेस 14 सीटों पर बढ़त के साथ तीसरे स्थान पर है.

नवीन पटनायक ने 1997 में अपने पिता बीजू पटनायक का निधन होने के बाद राजनीति में कदम रखा था. एक साल बाद ही अपने पिता के नाम पर उन्होंने बीजू जनता दल की स्थापना की. इसके बाद हुए विधानसभा चुनावों में जीत दर्ज करते हुए उन्होंने भाजपा के साथ सरकार बनाई और पहली बार मुख्यमंत्री बने. बाद में उन्होंने भाजपा से रास्ता अलग कर लिया.

उधर, अरुणाचल प्रदेश से भी विधानसभा चुनाव के रूझान आ रहे हैं. 60 में से जिन 20 सीटों के रुझान अब तक आए हैं उनमें भाजपा 17 सीटों पर आगे चल रही है. सिक्किम में भी विधानसभा चुनाव हुए थे. वहां 32 में से नौ सीटों के रुझान आए हैं. इनमें से सात पर सिक्किम क्रांतिकारी मोर्चा आगे चल रहा है. सिक्किम डेमोक्रेटिक फ्रंट दो सीटों पर बढ़त बनाए हुए हैं.