‘सबको साथ लेकर चलूंगा, बदनीयत से काम नहीं करूंगा.’  

— नरेंद्र मोदी, प्रधानमंत्री

नरेंद्र मोदी ने यह बात लोकसभा चुनाव के नतीजों पर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के मुख्यालय में आयोजित स्वागत समारोह के मौके पर अपने संबोधन में कही. इस मौके पर उन्होंने यह भी कहा, ‘लोकसभा में कभी हम दो थे. लेकिन आज दोबारा आ गए. अब जबकि दोबारा आए हैं तो भी हम न नम्रता छोड़ेंगे और न विवेक. हम न हमारे आदर्शों को छोड़ेंगे और न ही संस्कारों को.’ इसके साथ ही उनका यह भी कहना था, ‘सरकार भले ही बहुमत से चलती है. लेकिन देश सर्वमत से चलता है. इसी विचार के साथ हम सभी को साथ लेकर चलेंगे.’

‘जनता ही मालिक है और जनता ने नरेंद्र मोदी के पक्ष में स्पष्ट फैसला दिया है.’  

— राहुल गांधी, कांग्रेस अध्यक्ष

राहुल गांधी ने यह बात एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की जीत पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बधाई देते हुए कही. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा, ‘देश की जनता की इच्छा है कि नरेंद्र मोदी दोबारा प्रधानमंत्री बनें. हम जनता के इस आदेश का सम्मान करते हैं. साथ ही अपनी पराजय स्वीकारते हैं.’ इसी मौके पर राहुल गांधी ने कांग्रेस के कार्यकर्ताओं का हौसला बढ़ाते हुए कांग्रेस को एक विचारधारा बताया. साथ ही कहा, ‘लोकसभा के इस चुनाव की तरह अपनी विचारधारा को जीत दिलाने के लिए कांग्रेस के लोग आगे भी कड़ी मेहनत करेंगे.’


‘इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन से जनता का विश्वास हट गया है.’  

— मायावती, बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख

मायावती का यह बयान लोकसभा चुनाव के परिणाम पर आया है. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा, ‘उत्तर प्रदेश में बहुजन समाज पार्टी (बसपा) और समाजवादी पार्टी (सपा) गठबंधन ने जिन सीटों पर जीत दर्ज की उन पर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने गड़बड़ी नहीं करवाई. भाजपा ने ऐसा इसलिए किया ताकि इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) को लेकर जनता को कोई शक न हो.’ इसके साथ ही मायावती का यह भी कहना था कि ईवीएम को लेकर पूरे देश में विरोध हो रहा है. आज आए नतीजों के बाद जनता का इस पर से विश्वास और ज्यादा घट जाएगा.


‘कौन कहता है आसमां में सुराख नहीं हो सकता...’  

— स्मृति ईरानी, भाजपा नेता

स्मृति ईरानी ने यह बात एक ट्वीट के जरिये उस वक्त कही जब लोकसभा चुनाव की मतगणना के दौरान वे कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से आगे निकल गईं. वहीं दूसरी तरफ गुरुवार शाम एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने अमेठी से अपनी हार भी स्वीकार की. उस मौके पर उन्होंने कहा, ‘मैं चाहूंगा कि स्मृति ईरानी प्यार से अमेठी की जनता की देखभाल करें.’


‘नरेंद्र मोदी, तुम्हारी और मेरी जीत में बस एक ही अंतर है.’  

— बेंजामिन नेतन्याहू, इजरायल के प्रधानमंत्री

बेंजामिन नेतन्याहू ने यह बात लोकसभा के चुनाव में भाजपा को मिली जीत पर नरेंद्र मोदी को फोन पर बधाई देते हुए कही. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा, ‘हम दोनों जल्दी ही अपने देशों में अपनी सरकार बनाएंगे. लेकिन हमारे बीच सरकार गठन को लेकर थोड़ा फर्क है. वह ये कि आपको गठबंधन की जरूरत नहीं लेकिन मुझे है.’ इसके साथ ही बेंजामिन नेतन्याहू ने इजरायल और भारत की आपसी घनिष्ठता को और आगे ले जाने की इच्छा भी जताई.’