‘नरेंद्र मोदी चाहे जितने शक्तिशाली हो जाएं अनुच्छेद 370 और 35ए नहीं हटा सकते.’   

— फारुख अब्दुल्ला, जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री

फारुख अब्दुल्ला ने यह बात पत्रकारों के साथ बातचीत करते हुए कही. इसके साथ ही जम्मू-कश्मीर के लोगों को भारत का सिपाही बताते हुए उन्होंने यह भी कहा, ‘अनुच्छेद 370 और 35ए पर हमारे अधिकारों की रक्षा होनी चाहिए.’ इस मौके पर फारुख अब्दुल्ला का यह भी कहना था, ‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को देश के लोगों को बांटने के बजाय उन्हें एकजुट करने की कोशिश करनी चाहिए.’

‘लोकसभा के चुनाव में प्रज्ञा ठाकुर की जीत महात्मा गांधी की विचारधारा की हार है.’  

— दिग्विजय सिंह, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता

दिग्विजय सिंह ने यह बात लोकसभा के इस चुनाव में मध्य प्रदेश की भोपाल संसदीय सीट पर मिली हार को लेकर पत्रकारों के साथ बातचीत के दौरान कही. इस मौके पर उनका यह भी कहना था, ‘मैं लोकतंत्र की परंपरा के अनुसार जनादेश का सम्मान करता हूं. लेकिन मैं इस बात को लेकर बेहद चिंतित भी हूं क्योंकि इस चुनाव में महात्मा गांधी की हत्या करने वाले नाथूराम गोडसे की विचारधारा की जीत हुई है.’ इससे पहले दिग्विजय सिंह की प्रतिद्वंद्वी प्रज्ञा ठाकुर ने इसी महीने नाथूराम गोडसे को देशभक्त बताया था.


‘अमेठी के लोगों को ऐसा प्रतिनिधि चाहिए था जो अगले पांच साल उनके लिए काम कर सके.’  

— स्मृति ईरानी, भाजपा की नेता

स्मृति ईरानी ने यह बात लोकसभा की अमेठी संसदीय सीट पर अपनी जीत को लेकर पत्रकारों के साथ बातचीत करते हुए कही. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि उनकी इस जीत का आधार कोई ‘रॉकेट विज्ञान’ नहीं. उनका यह भी कहना था, ‘मुझे नरेंद्र मोदी सरकार के विकास के एजेंडे की वजह से जीत मिली है.’ स्मृति ईरानी ने आगे कहा, ‘पिछले पांच साल में जन प्रतिनिधि के मायने बदले हैं. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अमेठी के विकास पर ध्यान नहीं दिया. लेकिन केंद्र और राज्य की भाजपा सरकार इस संसदीय क्षेत्र के विकास के लिए काम कर रही है.’


‘भारत के साथ चीन अपने द्विपक्षीय संबंधों को और प्रगाढ़ करने की इच्छा रखता है.’  

— ल्यू कांग, चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता

ल्यू कांग का यह बयान चीन के मीडिया के साथ बातचीत करते हुए लोकसभा के इस चुनाव में नरेंद्र मोदी की जीत पर आया है. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा, ‘चीन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ मिलकर काम करने का इच्छुक है ताकि करीबी साझेदारी के लिए आपसी सहयोग और राजनीतिक भरोसे को मजबूत किया जा सके.’ इस मौके पर ल्यू कांग ने भारत और चीन को ‘महत्वपूर्ण पड़ोसी और विकासशील देश के अलावा उभरता बाजार’ भी बताया.


‘अगर लोग आपके बारे में बात कर रहे हैं तो इसका यही मतलब है कि आप प्रासंगिक बने हुए हैं.’  

— दिनेश कार्तिक, भारतीय क्रिकेट टीम के खिलाड़ी

दिनेश कार्तिक ने यह बात पूछे गए सवाल के जवाब में कही. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा, ‘मैंने भारतीय टीम के लिए अलग-अलग क्रम पर बल्लेबाजी की है और मुझे इसमें सफलता भी मिली है.’ इसके साथ ही उनका यह भी कहना था, ‘विश्व कप मेरे लिए बड़ी प्रतियोगिता है क्योंकि मुझे इसमें खेलने का मौका मिला है.