वाईएसआर कांग्रेस पार्टी (वाईएसआरसीपी) के अध्यक्ष वाईएस जगन मोहन रेड्डी ने विधानसभा चुनाव नतीजों को लेकर तेलुगू देशम पार्टी (टीडीपी) के प्रमुख चंद्रबाबू नायडू पर निशाना साधा है. खबरों के मुताबिक नव-निर्वाचित विधायक दल की बैठक में उन्होंने कहा, ‘ईश्वर ने चंद्रबाबू नायडू को उनके बुरे कामों की सजा दी है. यह बात चुनावी नतीजों से भी साफ होती है कि अगर कोई कुछ गलत करेगा तो उसे सजा जरूर मिलेगी.’ इसके साथ ही जगन मोहन रेड्डी ने यह भी कहा, ‘2014 के चुनाव में चंद्रबाबू नायडू ने वाईएसआरसीपी के 23 विधायक खरीदे थे. लेकिन इस बार 23 मई को राज्य विधानसभा चुनाव के घोषित नतीजों में नायडू की पार्टी के सिर्फ 23 विधायक ही चुने गए हैं.’

जगन मोहन रेड्डी ने आगे कहा कि लोग देख सकते हैं कि 23 की संख्या को लेकर ईश्वर ने कैसी शानदार पटकथा लिखी है. इसके साथ ही उनका कहना था, ‘मैं यह भी याद दिला दूं कि चंद्रबाबू नायडू ने हमारी पार्टी के तीन सांसदों को भी अपने साथ कर लिया था. लोकसभा के इस चुनाव में चंद्रबाबू नायडू की पार्टी से सिर्फ तीन सांसद ही चुने गए हैं.’ इस मौके पर पार्टी नेताओं से रेड्डी ने यह भी कहा, ‘लोगों ने हमारी पार्टी पर विश्वास जताया है. हमें उस भरोसे और जनादेश पर खरा उतरना है. हम सभी को अपने जेहन में यह बात बैठा लेनी है कि 2024 के चुनाव में हमारे बेहतरीन प्रदर्शन का आधार अगले पांच साल के दौरान किए गए हमारे काम होंगे.’

इस बैठक में जगन मोहन को सर्वसम्मति से विधायक दल का नेता भी चुना गया है. पीटीआई के मुताबिक बैठक के बाद शनिवार को ही उन्होंने आंध्र प्रदेश और तेलंगाना के राज्यपाल ईएसएल नरसिम्हन से मुलाकात करके आंध्र प्रदेश में सरकार बनाने का दावा पेश किया है. वहीं राज्यपाल ने इसके बाद उन्हें राज्य में सरकार बनाने के लिेए आमंत्रित किया है. बताया जा रहा है कि जगन मोहन रेड्डी 30 मई को आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेंगे.

आंध्र प्रदेश में लोकसभा के साथ ही राज्य विधानसभा के चुनाव भी कराए गए थे जिसमें चंद्रबाबू नायडू को करारी शिकस्त झेलनी पड़ी है. कुल 175 सीटों वाली आंध्र प्रदेश की विधानसभा में 151 सीटें वाईएसआरसीपी के खाते में आई हैं. वहीं राज्य की सत्ता में रहने वाली टीडीपी सिर्फ 23 सीटें ही जीत पाई. इसी तरह आंध्र प्रदेश में लोकसभा की कुल 25 संसदीय सीटों से टीडीपी को सिर्फ तीन सीटें जीतने में कामयाबी मिली है जबकि 22 सीटों पर वाईएसआरसीपी ने अपना कब्जा जमाया है.