उत्तर प्रदेश के अमेठी में इस बार कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को हराने वाली भाजपा नेता और केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के सहयोगी नेता सुरेंद्र सिंह की हत्या के मामले में पांच आरोपित पकड़े गए हैं. इन आरोपितों पर दिवंगत सुरेंद्र सिंह के परिवार वालों ने पुलिस को दिए बयान में संदेह जताया था.

उत्तर प्रदेश पुलिस के मुताबिक पांच आरोपितों में से तीन को औपचारिक तौर पर ग़िरफ़्तार कर लिया गया है. इनके नाम- वसीम, धर्मनाथ गुप्ता और रामचंद्र हैं. जबकि दो अन्य आरोपितों- नसीम और गोलू से पूछताछ की जा रही है. इन दोनों को अभी पुलिस हिरासत में ही लिया गया है. सुरेंद्र सिंह की हत्या के बाद पुलिस ने अमेठी की तीन तहसीलों- गौरीगंज, जैस और तिलोई में कई जगहों पर छापे मारे थे. इसी कार्रवाई के दौरान सभी आरोपितों को पकड़ा गया.

ग़ौरतलब है कि शनिवार रात अमेठी के बरौलिया गांव के पूर्व प्रधान सुरेंद्र सिंह की कुछ अज्ञात बदमाशों ने गोली मार दी थी. घटना तब हुई जब सुरेंद्र सिंह गांव में अपने घर के बाहर सो रहे थे. उन्होंने तुरंत इलाज के लखनऊ ले जाया गया. लेकिन वहां पहुंचने से पहले उन्होंने रास्ते में ही दम तोड़ दिया. इस घटना के बाद स्मृति ईरानी ने कहा था कि अगर सुरेंद्र सिंह के हत्यारों को सज़ा दिलाने और पीड़ित परिवार को न्याय दिलाने के लिए उन्हें सुप्रीम कोर्ट तक भी जाना पड़ा तो जाएंगी.