उत्तरी ब्राजील की चार जेलों में हुई हिंसा में कम से कम 40 कैदियों की मौत हो गई है. इस घटना से एक दिन पहले ही एक अन्य जेल में हुई हिंसा में 15 लोगों की मौत हो गई थी. ताजा हिंसा को लेकर एमेजोनस राज्य सरकार ने एक बयान में कहा कि ऐसा प्रतीत होता है कि पीड़ितों की मौत ‘दम घुटने’ के कारण हुई.

वहीं, जेल अधिकारियों ने बताया कि हिंसा में किसी बंदूक या चाकू का इस्तेमाल नहीं किया गया. उनके मुताबिक ऐसा प्रतीत होता है कि हिंसा ‘उन कैदियों के बीच विवाद के कारण हुई जो एक ही आपराधिक समूह के थे और राज्य में नशीले पदार्थों की तस्करी में शामिल थे.’ उधर, ब्राजील की संघीय सरकार ने बताया कि वह राज्य की जेलों में सुरक्षा कड़ी करने के लिए अतिरिक्त बल को भेज रही है.

ब्राजील की जेलों में आए दिन हिंसा की घटनाएं होती हैं. इनमें कैदियों के साथ कभी-कभी सुरक्षा कर्मी भी मारे जाते हैं. आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार ब्राजील कैदियों की संख्या के मामले में विश्व में तीसरे नंबर पर है. जून 2016 तक यहां सात लाख 26,712 कैदी थे. यह संख्या उसकी जेलों की क्षमता की दोगुनी है.