नवीन पटनायक एक बार फिर ओडिशा के मुख्यमंत्री बन गए हैं. राजधानी भुवनेश्वर में आयोजित एक सार्वजनिक समारोह में राज्यपाल गणेशी लाल ने उन्हें पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई. नवीन पटनायक ने लगातार पांचवीं बार मुख्यमंत्री पद की शपथ ली है. उनके 20 मंत्रियों में से करीब आधे ऐसे हैं जो पहली बार मंत्री बनने जा रहे हैं. उनसे पहले मात्र दो लोग थे जो पांच बार मुख्यमंत्री रहे. पश्चिम बंगाल में ज्योति बसु और सिक्किम में पवन चामलिंग.

नवीन पटनायक ने 1997 में अपने पिता बीजू पटनायक का निधन होने के बाद राजनीति में कदम रखा था. एक साल बाद ही अपने पिता के नाम पर उन्होंने बीजू जनता दल की स्थापना की. इसके बाद हुए विधानसभा चुनावों में जीत दर्ज करते हुए उन्होंने भाजपा के साथ सरकार बनाई और पहली बार मुख्यमंत्री बने. बाद में उन्होंने भाजपा से रास्ता अलग कर लिया. ओडिशा में लोकसभा चुनाव के साथ ही विधानसभा चुनाव भी हुए थे जिनमें बीजू जनता दल ने शानदार प्रदर्शन किया.

उधर, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ओडिशा के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने पर नवीन पटनायक को शुभकामनाएं दी हैं. उन्होंने पटनायक को राज्य के विकास में केंद्र के पूर्ण सहयोग का आश्वासन दिया है. एक ट्वीट में नरेंद्र मोदी ने कहा, ‘नवीन पटनायक जी को ओडिशा के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने पर बधाई । लोगों की आकांक्षाओं को पूरा करने के लिये उन्हें और उनकी टीम को शुभकामनाएं. मैं ओडिशा के विकास कार्य में केंद्र की ओर से पूर्ण सहयोग का आश्वासन देता हूं.’