पश्चिम बंगाल की ममता बनर्जी सरकार भारतीय जनता पार्टी के निशाने पर है. इसका एक और संकेत पार्टी के राष्ट्रीय सचिव राहुल सिन्हा के बयान से मिला है. सिन्हा ने बुधवार को कहा, ‘ममता बनर्जी सरकार 2021 तक का अपना कार्यकाल पूरा नहीं कर पाएगी. यह सरकार बस साल-छह महीने की ही मेहमान है.’

राहुल सिन्हा के मुताबिक, ‘मुझे लगता है कि पश्चिम बंगाल में अगले छह महीने या साल भर के भीतर विधानसभा चुनाव हो जाएंगे. तृणमूल कांग्रेस (ममता बनर्जी की पार्टी- टीएमसी) में असंतोष लगातार बढ़ रहा है. टीएमसी की सरकार पुलिस और सीआईडी (अपराध अन्वेषण विभाग) के दबाव में चल रही है.’ इससे पूर्व भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने भी कहा था, ‘हम ममता बनर्जी को शुभकामनाएं देते हैं कि वे 2021 तक अपना कार्यकाल पूरा कर लें. लेकिन अगर उनके कर्म ऐसे ही रहे और लोग इसी तरह काम करते रहे तो हम कोई मदद नहीं कर सकते.’

याद दिलाते चलें कि इस लोक सभा चुनाव में भाजपा ने पश्चिम बंगाल की 42 में से 18 सीटें जीतकर इतिहास बनाया है. उसका मतप्रतिशत भी 17 से बढ़कर 40 तक पहुंच गया है. इसके बाद मंगलवार को ही टीएमसी के दो और माक्सर्ववादी कम्युनिस्ट पार्टी के एक विधायक ने दिल्ली में भाजपा की सदस्यता ली है. इसके अलावा टीएमसी के 60 से अधिक पार्षद भी भाजपा में शामिल हुए हैं. इस मौके पर विजयवर्गीय ने यह भी कहा था कि जैसे ‘पश्चिम बंगाल में सात चरणों में (लोक सभ) चुनाव में हुए उसी तरह सात ही चरण में टीएमसी के लगभग 40 विधायक भाजपा की सदस्यता लेने वाले हैं.’