‘भाजपा बंगालियों और गैर बंगालियों के बीच खाई पैदा करने की कोशिश कर रही है.’  

— ममता बनर्जी, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री

ममता बनर्जी ने यह बात पश्चिम बंगाल के नैहाटी में एक राजनीतिक कार्यक्रम के दौरान दिए अपने संबोधन में कही. इस मौके पर उन्होंने यह भी कहा, ‘भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पश्चिम बंगाल के सांप्रदायिक सद्भाव को खत्म करना चा​हती है. इसलिए देश के लोगों से मेरी अपील है कि वे इसके खिलाफ अपनी आवाज बुलंद करें.’ इसके साथ ही ममता बनर्जी ने भाजपा के गुंडों पर बीते चुनाव के दौरान 400 बंगाली परिवारों को बेघर करने के आरोप भी लगाए. साथ ही कहा, ‘राज्य में प्रदेश पुलिस के भी कुछ अधिकारी भाजपा के इशारे पर काम कर रहे हैं जिसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा.’

‘प्रधानमंत्री के तौर पर दूसरे कार्यकाल में राष्ट्रीय सुरक्षा मेरी शीर्ष प्राथमिकता होगी.’  

— नरेंद्र मोदी, प्रधानमंत्री

नरेंद्र मोदी ने यह बात दिल्ली स्थित राष्ट्रीय समर स्मारक पर शहीदों को श्रद्धांजलि देने के बाद एक ट्वीट के जरिये कही. इसी ट्वीट से उन्होंने यह भी कहा, ‘अपने कर्तव्यों का निवर्हन करते हुए देश के नाम अपना जीवन कुर्बान करने वाले वीर जवानों पर हम सभी को गर्व है.’ इसके साथ ही नरेंद्र मोदी का यह भी कहना था कि उनकी सरकार देश की एकता और अखंडता में कोई कसर नहीं छोड़ेगी.


‘भाजपा विपक्षी दलों की राज्य सरकारों को अस्थिर करने और उन्हें गिराने की कोशिश कर रही है.’  

— अशोक गहलोत, राजस्थान के मुख्यमंत्री

अशोक गहलोत ने यह बात एक ट्वीट के जरिये कही. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा, ‘केंद्र की नवनिर्वाचित भाजपा सरकार ऐसा पश्चिम बंगाल, कर्नाटक और मध्य प्रदेश की राज्य सरकारों के खिलाफ कर रही है.’ इसी ट्वीट के जरिये अशोक गहलोत ने नरेंद्र मोदी को दोबारा प्रधानमंत्री पद संभालने की बधाई भी दी.


‘नरेंद्र मोदी की नई कैबिनेट में जनता दल यूनाइटेड का कोई नेता शामिल नहीं होगा.’  

— नीतीश कुमार, जनता दल यूनाइटेड के अध्यक्ष

नीतीश कुमार ने यह बात दिल्ली में पत्रकारों के साथ बातचीत करते हुए कही. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा, ‘जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) का हिस्सा बना रहेगा. साथ ही केंद्र की भाजपा सरकार को भी उसका समर्थन जारी रहेगा.’ बताया जाता है कि इसी बुधवार को भाजपा ने जेडीयू के सामने केंद्रीय कैबिनेट में एक मं​त्री पद का प्रस्ताव रखा था जिसे नीतीश कुमार ने अस्वीकार कर दिया था.


‘भारत की सेना में 30 साल तक सेवाएं देने का मुझे यह इनाम मिला है.’  

— मोहम्मद सनाउल्लाह, भारतीय सेना के सेवानिवृत्त अधिकारी

मोहम्मद सनाउल्लाह का यह बयान नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजंस (एनआरसी) के नवीनीकरण की प्रक्रिया में उन्हें ‘विदेशी नागरिक’ घोषित किए जाने को लेकर आया है. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा, ‘मैं भारतीय हूं और हमेशा भारतीय ही रहूंगा.’ मोहम्मद सनाउल्लाह के मुताबिक खुद को विदेशी घोषित किए जाने के बाद अब वह गुवाहाटी उच्च न्यायालय में अपील करने की तैयारी कर रहे हैं.