बीते हफ्ते जब वेस्टइंडीज के धाकड़ बल्लेबाज क्रिस गेल क्रिकेट विश्व कप खेलने के लिए इंग्लैंड पहुंचे तो एक पत्रकार ने उनकी बल्लेबाजी और बढ़ती उम्र को लेकर सवाल पूछ दिया. इस पर उनका कहना था, ‘आप ये बात किसी गेंदबाज से ही पूछिए...गेंदबाज कभी मीडिया के सामने नहीं मानेंगे कि वे मुझसे डरते हैं, लेकिन कैमरा हटते ही इस बात को स्वीकार कर लेंगे. मेरे हिसाब से मेरी बल्लेबाजी में आक्रामकता अभी भी बरकरार है.’

अपनी तूफानी बल्लेबाजी से गेंदबाजों के छक्के छुड़ाने वाले क्रिस गेल की यह बात काफी हद तक सच है. हाल ही में उन्होंने इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में शानदार बल्लेबाजी की. किंग्स इलेवन पंजाब की ओर से खेलते हुए उन्होंने 40 से ज्यादा के औसत से 490 रन बनाए. इससे पहले जनवरी में क्रिस गेल ने इंग्लैंड के खिलाफ चार वनडे मैच खेले और इनमें 106 की औसत से 424 रन बनाए. जाहिर है कि वे इस समय वे एक बेहतरीन लय में हैं और यही वजह है कि वेस्टइंडीज के चयनकर्ताओं ने उन्हें 39 साल की उम्र में भी विश्व कप खेलने इंग्लैंड भेजा है.

बहरहाल, इस विश्व कप में क्रिस गेल पर सभी की निगाहें इसलिए लगी हुई हैं कि एक तो वे इस टूर्नामेंट के दूसरे सबसे उम्रदराज खिलाड़ी हैं और दूसरा वे इस विश्व कप में कई रिकॉर्ड अपने नाम करने वाले हैं.

क्रिकेटरों के विशिष्ट क्लब में शामिल हो जाएंगे

वेस्टइंडीज शुक्रवार से पाकिस्तान के खिलाफ अपने विश्व कप के अभियान की शुरुआत कर रहा है. क्रिस गेल इस मैच में मैदान पर आते ही पांच या इससे अधिक बार विश्व कप खेलने वाले क्रिकेटरों के विशिष्ट क्लब में शामिल हो जाएंगे, ऐसा करने वाले वे दुनिया के 19वें खिलाड़ी होंगे.

भारतीय दिग्गज सचिन तेंदुलकर और पाकिस्तान के जावेद मियांदाद सर्वाधिक छह-छह विश्व कप खेले हैं. इसके अलावा ब्रायन लारा, इमरान खान, अर्जुन रणतुंगा, मुथैया मुरलीधरन, वसीम अकरम, रिकी पोंटिंग और जाक कैलिस सहित 16 ऐसे खिलाड़ी हैं जो पांच विश्व कप आयोजनों का हिस्सा रहे हैं. गेल हमवतन लारा और शिवनारायण चंद्रपाल के बाद इस सूची में शामिल होने वाले तीसरे कैरेबियाई खिलाड़ी भी होंगे.

छक्कों के बादशाह बनने से एक कदम दूर

क्रिकेट विश्व कप 2019 के सबसे अनुभवी खिलाड़ी क्रिस गेल के निशाने पर कई और भी खास रिकॉर्ड हैं. इनमें से एक इस टूर्नामेंट में सर्वाधिक छक्के लगाने का रिकॉर्ड भी है जिसके लिये उन्हें केवल एक छक्के की दरकार है.

क्रिस गेल अब तक 2003, 2007, 2011 और 2015 विश्व कप में खेल चुके हैं जिसमें उन्होंने 26 मैचों में 37.37 की औसत से 944 रन बनाये हैं. उनके नाम पर 215 रन की एक शानदार पारी भी है. ‘यूनिवर्स बॉस’ के नाम से मशहूर गेल विश्व कप में अब तक 37 छक्के लगा चुके हैं. इस मामले में वे दक्षिण अफ्रीका के एबी डिविलियर्स के साथ संयुक्त रूप से शीर्ष पर हैं. यानी टूर्नामेंट में पहला छक्का लगाते ही वे विश्व कप के ‘सिक्सर किंग’ बन जाएंगे.

विश्व कप में सर्वाधिक छक्के लगाने के मामले में गेल के बाद न्यूजीलैंड के मार्टिन गुप्टिल (20 छक्के) आते हैं. गुप्टिल इस विश्व कप में भी भाग ले रहे हैं. लेकिन, ज्यादातर जानकारों का मानना है कि इस विश्व कप में क्रिस गेल जो रिकार्ड बनाएंगे उसका टूटना फिलहाल मुमकिन नहीं है.

वेस्टइंडीज की ओर से सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज बन सकते हैं

गेल को विश्व कप में एक हजार रन पूरे करने के लिये केवल 56 रन की जरूरत है. अब तक केवल 17 बल्लेबाज ही एक हजार से अधिक रन बना पाये हैं जिनमें सचिन तेंदुलकर 2278 रन के साथ शीर्ष पर काबिज हैं. वेस्टइंडीज की तरफ से ब्रायन लारा (1225 रन) और विवयन रिचर्ड्स (1013 रन) ही इस मुकाम पर पहुंचे हैं. ऐसे में माना जा रहा है कि क्रिस गेल इस विश्व कप के लीग मैचों के दौरान ही वेस्टइंडीज की ओर से विश्व कप में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज बन जाएंगे.

वर्तमान विश्व कप में भाग ले रहे खिलाड़ियों में केवल क्रिस गेल ही एक मात्र ऐसे खिलाड़ी हैं जो 2003 विश्व कप का भी हिस्सा रहे थे. इसके बाद वे सभी विश्व कप टूर्नामेंट्स खेले हैं. क्रिस गेल ने बीते फरवरी में घोषणा की थी कि यह उनका आखिरी विश्व कप होगा. जाहिर है कि ऐसे में उनके प्रशंसक भी उनके बल्ले से नए रिकॉर्ड बनते देखना चाहेंगे.