ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एमआईएम) के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने कहा है कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के लोगों को मुसलमानों में आतंकवादी ही नजर आते हैं. खबरों के मुताबिक असदुद्दीन ओवैसी ने यह बात केंद्रीय गृह राज्य मंत्री किशन रेड्डी के एक बयान पर पलटवार करते हुए कही है.

एमआईएम प्रमुख ने यह भी कहा है, ‘किशन रेड्डी ने अपना पदभार संभालने से पहले ही मुसलमानों को लेकर अपमानजमक बात कही हैं. एक ​मंत्री को ऐसे गैर जिम्मेदाराना बयान शोभा नहीं देते.’ इसके साथ ही सवालिया लहजे में उन्होंने कहा, ‘मैं उनसे पूछना चाहता हूं कि बीते पांच सालों में राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए), इंटेलिजेंस ब्यूरो (आईबी) और रिसर्च एंड एनालिसिस विंग (रॉ) ने कितनी बार हैदराबाद को आतंक के लिहाज से सुरक्षित क्षेत्र बताया है.’

हैदराबाद को एक ‘शांतिपूर्ण’ क्षेत्र बताते हुए असदुद्दीन ओेवैसी ने कहा कि यहां पांच साल से शांति है. यहां सांप्रदायिक दंगे नहीं हुए हैं. धार्मिक त्योहार शांति से मनाए जाते हैं. यह विकास की तरफ बढ़ता हुआ शहर है. इसके साथ ही उन्होंने सवाल किया है, ‘तेलंगाना और हैदराबाद के साथ आपकी (किशन रेड्डी) क्या दुश्मनी है. हैदराबाद आगे बढ़ रहा है, क्या यह बात आपको पसंद नहीं है?’

इससे पहले इसी शुक्रवार को किशन रेड्डी ने हैदराबाद को लेकर एक विवादित बयान दिया था. तब उन्होंने कहा था कि देश में जहां कहीं भी आतंकवाद की घटनाएं होती हैं उसकी जड़ें हैदराबाद के साथ जुड़ती हैं.

इधर, शनिवार को आए असदुद्दीन ओवैसी के बयान पर भी किशन रेड्डी ने प्रतिक्रिया दी है. उन्होंने कहा है, ‘देश में कई जगहों पर आतंकी गतिविधियां बढ़ रही हैं. अगर ऐसी कोई घटना बेंगलुरु या भोपाल में होती है तो उसकी जड़ें हैदराबाद तक पहुंची हैं. राज्य पुलिस और एनआईए ने हर दो-तीन महीने के अंतराल पर वहां आतंकियों को गिरफ्तार भी किया है. ऐसे में मैंने कुछ गलत नहीं कहा.’