प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने विमानन क्षेत्र के एक कथित घोटाले के सिलसिले में पूर्व उड्डयन मंत्री और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के नेता प्रफुल्ल पटेल को समन भेजा है. करोड़ों रुपये के इस मनी लॉन्डरिंग मामले में प्रफुल्ल पटेल से अगले हफ्ते पूछताछ होगी. यह कथित घोटाला केंद्र में कांग्रेस की अगुवाई वाले संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (यूपीए) के पहले कार्यकाल में हुआ था और तब प्रफुल्ल पटेल उड्डयन मंत्रालय संभाल रहे थे. बताया जाता है कि तब इस घोटाले की वजह से सरकारी एयरलाइंस कंपनी एयर इंडिया को भारी घाटा उठाना पड़ा था.

पीटीआई ने सूत्रों के हवाले से बताया है कि राज्यसभा सांसद पटेल को छह जून को ईडी के सामने पेश होने को कहा गया है. वहीं एनसीपी नेता ने इस समन पर कहा है, ‘मुझे प्रवर्तन निदेशालय के साथ सहयोग करने में खुशी होगी और मैं उसे यह समझने में मदद करूंगा कि उड्डन क्षेत्र में किस-किस तरह की जटिलताएं हैं.’

माना जा रहा है कि ईडी कॉर्पोरेट लॉबीइस्ट दीपक तलवार से मिली जानकारी के आधार पर पटेल से पूछताछ करना चाहता है. दीपक तलवार का इसी साल 30 जनवरी को दुबई से प्रत्यर्पण हुआ था और उसके बाद से वह ईडी की हिरासत में है. बताया जाता है कि इस कॉर्पोरेट लॉबीइस्ट ने 2008-09 के दौरान गैर-कानूनी तरीके से कुछ विदेशी एयरलाइन कंपनियों को विशेष हवाई मार्गों में उड़ान के अधिकार दिलवाए थे और इससे एयर इंडिया को भारी घाटा हुआ था. इस दौरान दीपक तलवार नियमित तौर पर प्रफुल्ल पटेल के संपर्क में था.