भारतीय वायु सेना का एक एएन-32 विमान लापता हो गया है. विमान ने असम के जोरहाट से अरुणाचल प्रदेश के लिए उड़ान भरी थी. लेकिन करीब 35 मिनट बाद ही इसका एयरबेस से संपर्क टूट गया. इसमें चालक दल के आठ सदस्यों सहित कुल 13 लोग सवार बताए जा रहे हैं.

इस सिलसिले में वायु सेना ने अपना खोज अभियान शुरू कर दिया है. सुखोई 30 और सी 130 हर्क्लीज़ को इसमें लगाया गया है. सेना और आईटीबीपी की भी मदद ली जा रही है. उधर, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने इस बारे में वायुसेना के वाइस चीफ से बात कर मामले की जानकारी ली है. उन्होंने विमान में सवार यात्रियों की सुरक्षा के लिए प्रार्थना भी की है.

भारतीय वायु सेना का एएन-32 विमान इससे पहले भी हादसे का शिकार हो चुका है. 2016 में चेन्नई से पोर्ट ब्लेयर जा रहा एक एएन-32 विमान बंगाल की खाड़ी के ऊपर लापता हो गया था. इसमें चालक दल के छह सदस्य, भारतीय सेना के 12 जवान और एक ही परिवार के आठ सदस्य मौजूद थे. कई दिनों तक चली छानबीन के बाद भी इस विमान का कोई पता नहीं लगा था.

एएन 32 यानी एंतोनोव 32 एक परिवहन विमान है. यह सैन्य साजो-सामान ले जाने वाला विमान है जिसे भारतीय वायुसेना 1984 से इस्तेमाल कर रही है. इसे यूक्रेन की एंतोनोव स्टेट कॉर्पोरेशन ने डिज़ाइन किया है.