इंग्लैंड में खेली जा रही क्रिकेट विश्व कप प्रतियोगिता में भारत ने जीत के साथ अपना आगाज किया है. बुधवार को साउथैम्टन में खेले गए अपने पहले मुकाबले में भारत ने अपने प्रतिद्वंदी दक्षिण अफ्रीका को छह विकेट से मात दी. विश्व कप प्रतियोगिता में यह दक्षिण अफ्रीका की लगातार तीसरी हार है. ऐसे में अगले चरण तक पहुंचने के लिए अब अफ्रीकी टीम को अपने शेष सभी मुकाबलों में जीत दर्ज करनी होगी.

इधर, आज खेले गए मुकाबले में दक्षिण अफ्रीका ने भारत के सामने जीत के लिए 228 रन का लक्ष्य रखा था जिसे भारतीय टीम ने 48वें ओवर में चार विकेट खोकर हासिल कर लिया. हालांकि एक दिनी क्रिकेट के लिहाज से आसान लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय पारी भी शुरुआत में तब लड़खड़ती दिखी जब 13 के योग पर शिखर धवन अपना विकेट गंवा बैठे. कगिसो रवादा ने उन्हें विकेट के पीछे क्विंटन डि कॉक के हाथों लपकवाया.

धवन के आउट होने के बाद भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली मैदान पर उतरे. लेकिन वे भी ज्यादा देर तक रोहित शर्मा का साथ नहीं निभा पाए. एंडिले फेहुलकवायो की गेंद पर वे चूक गए और क्विंटन डि कॉक को कैच थमा बैठे. उनके बाद केएल राहुल ने 42 गेंदों पर 26 जबकि महेंद्र सिंह धोनी ने 46 गेंदों पर 34 रन की उपयोगी पारी खेली. धोनी के आउट होने के बाद क्रीज पर उतरे हार्दिक पंड्या ने अपने पारंपरिक अंदाज में बल्ला चलाया. उन्होंने सात गेंदों पर नाबाद 15 रन बनाए.

वहीं दूसरे छोर को भारत के सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा मजबूती से थामे रहे और इस मैच में उन्होंने नाबाद 122 रन बनाए. 144 गेंदों की इस पारी में उन्होंने 13 चौके भी लगाए. शानदार सैकड़े के लिए उन्हें ‘मैन ऑफ द मैच’ भी चुना गया

इससे पहले दक्षिण अफ्रीका के कप्तान फॉफ डु प्लेसिस ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया. लेकिन जसप्रीत बुमराह की तरफ से उनकी टीम को दिए दो शुरुआती झटकों ने उनके इस फैसले को गलत साबित कर दिया. इसके बाद युजवेंद्र चहल की फिरकी ने दक्षिण अफ्रीका के मध्यक्रम की कमर तोड़ दी. बाकी का काम कुलदीप यादव और भुवनेश्वर कुमार ने कर दि​खाया. भारत की तरफ से युजवेंद्र चहल ने सबसे ज्यादा चार विकेट चटकाए. वहीं जसप्रीत बुमराह और भुवनेश्वर कुमार की झोली में दो-दो विकेट गिरे. कुलदीप यादव ने एक बल्लेबाज को पैवेलियन लौटाया.

वहीं दक्षिण अफ्रीका की तरफ से क्रिस मॉरिस सबसे सफल बल्लेबाज रहे. उन्होंने 34 गेदों का सामना करते हुए 42 रन बनाए. अपनी पारी में उन्होंने एक चौका भी लगाया. कप्तान फॉफ डु प्लेसिस ने 54 गेंदों पर 38 रन जबकि कगिसो रवादा ने 35 गेंदों का सामना करते हुए टीम के लिए 31 रन जोड़े. इस तरह दक्षिण अफ्रीका की टीम निर्धारित 50 ओवर में नौ विकेट खोकर 227 रन बनाने में कामयाब रही. गेंदबाजी के लिहाज से कगिसो रवादा दक्षिण अफ्रीका के सबसे सफल गेंदबाज रहे. उन्होंने भारत के दो बल्लेबाजों को पैवेलियन की राह दिखाई. वहीं क्रिस मॉरिस और एंडिले फेहुलकवायो को एक-एक विटेक लेने में कामयाबी मिली.