पाकिस्तान के सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा ने कहा है कि रक्षा बजट में कटौती करने के फैसले से पाकिस्तानी सेना की ताकत में कोई कमी नहीं आएगी. उनके मुताबिक बजट कटौती से पाकिस्तान की सेना की जवाब देने की क्षमता पर कोई असर नहीं पड़ेगा. पीटीआई के मुताबिक बुधवार को भारत के साथ लगती नियंत्रण रेखा के पास अपने सैनिकों के साथ ईद-उल-फितर मनाने के दौरान जनरल बाजवा ने ये बातें कही हैं.

पिछले कुछ समय से वित्तीय संकट से जूझ रहे पाकिस्तान के वित्तीय समाधान के लिये सरकार ने मितव्ययिता मुहिम शुरू की है. इसके तहत ही पिछले दिनों पाकिस्तान की सेना ने भी अगले वित्त वर्ष के लिये अपने रक्षा बजट में कटौती का फैसला किया है.

देश की सेना द्वारा पहली बार ऐसा अभूतपूर्व कदम उठाये जाने पर टिप्पणी करते हुए सेना प्रमुख जनरल बाजवा ने कहा कि रक्षा बजट में स्वेच्छा से की गयी कटौती का सेना की जवाबी कार्रवाई की क्षमता पर कोई असर नहीं पड़ेगा. बाजवा ने अपने सैनिकों में जोश भरते हुए कहा, ‘पाकिस्तान के रक्षकों, हमारा पहला परिवार हमारा देश है और फिर हमारा घर. बजट बढ़ोत्तरी न करने की हमारी पहल देश पर कोई एहसान नहीं है क्योंकि हम सब सुख-दुख के साथी हैं.’

जनरल कमर जावेद बाजवा ने अपने सैनिकों को आश्वस्त करते हुए यह भी कहा, ‘रक्षा बजट में कटौती करने के बाद अब वेतन नहीं बढ़ाने का फैसला सिर्फ अधिकारियों पर ही लागू होगा, अन्य सैनिकों के वेतन में वृद्धि की जायेगी.’