केंद्रीय मंत्री और भाजपा के वरिष्ठ नेता राजनाथ सिंह को नरेंद्र मोदी सरकार की कई प्रमुख कैबिनेट समितियों में शामिल कर लिया गया है. इससे पहले इन समितियों को लेकर जारी की गई पैनल सूचियों में से केवल दो में राजनाथ सिंह का नाम शामिल था. मीडिया में इसे लेकर अटकलें लगाई जा रही थीं. एनडीटीवी के मुताबिक इसके बाद अन्य समितियों में भी उनका नाम डाला गया.

राजनाथ को केवल दो पैनलों में शामिल किए जाने पर सवाल इसलिए उठे थे, क्योंकि मोदी सरकार में उनका कद दूसरे नंबर के मंत्री का रहा है. प्रधानमंत्री की अनुपस्थिति में कैबिनेट और राजनीतिक मामलों की समितियों का संचालन वही करते रहे हैं. लेकिन जब उन्हें केवल दो पैनलों का सदस्य बनाया गया तो इसे मोदी सरकार में अमित शाह के प्रभाव से जोड़ कर देखा गया. उनका नाम सभी आठों समितियों में शामिल है, जबकि खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी छह पैनलों के सदस्य हैं. वहीं, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण सात और वाणिज्य व रेलवे मंत्री पीयूष गोयल पांच समितियों के सदस्य हैं.

ऐसे में तमाम अटकलों को विराम देते हुए अब वरिष्ठ भाजपा नेता को छह पैनलों का सदस्य बनाया गया है. उधर, राजनाथ सिंह के कार्यालय ने उन रिपोर्टों को खारिज किया है जिनमें कहा गया था कि उनकी की तरफ से इस्तीफे की धमकी के बाद उनका नाम बाकी पैनलों में शामिल किया गया.