दिल्ली की महिलाओं को मुफ्त पब्लिक ट्रांसपोर्ट सेवा देने का आम आदमी पार्टी (आप) सरकार का फैसला उसके और केंद्र के बीच एक और टकराव की वजह बन सकता है. खबर है कि केंद्र सरकार में आवासीय और शहरी मामलों के मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने कहा है कि उन्हें दिल्ली सरकार की तरफ से ऐसा कोई प्रस्ताव नहीं मिला है जिसमें महिलाओं को सरकारी बसों और मेट्रो ट्रेनों की मुफ्त सेवा देने की बात कही गई हो.

एनडीटीवी के मुताबिक केंद्रीय मंत्री ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर हमला करते हुए कहा, ‘ऐसा नहीं हो सकता कि आप एक योजना का एलान पहले करें और उसका प्रस्ताव बाद में तैयार करें.’ हरदीप पुरी ने आगे कहा, ‘भाजपा पूरी तरह महिलाओं के साथ है. हम उनके लिए जो भी संभव होगा वह करेंगे. लेकिन योजनाएं इस तरह नहीं बनाई जातीं.’

हाल ही में दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार ने महिलाओं को बसों और मेट्रो में मुफ्त यात्रा की सुविधा देने का एलान किया है. इसके लिए उसने दिल्लीवासियों से 15 जून तक सुझाव देने को कहा है. लेकिन दिल्ली सरकार की यह योजना केंद्र के सहयोग के बिना संभव नहीं होगी, क्योंकि दिल्ली मेट्रो में केंद्र और दिल्ली की सरकारें साझेदार हैं और दोनों में लंबे समय से छत्तीस का आंकड़ा है. ऐसे में इस योजना को अमली जामा पहनाना अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व वाली ‘आप’ सरकार के लिए खासा मुश्किल हो सकता है.