सिक्किम में भ्रष्टाचार के मामलों की जांच के लिए सीबीआई का रास्ता जल्द आसान हो सकता है. ख़बरों की मानें तो सिक्किम क्रांतिकारी मोर्चा (एसकेएम) की नई सरकार राज्य में भ्रष्टाचार के मामलों की जांच के लिए केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) के लिए दरवाज़े खाेलने की तैयारी कर रही है.

एसकेएम के प्रवक्ता और मुख्यमंत्री के राजनीतिक सचिव जैकब खालिंग राय ने मीडिया को बताया, ‘हम पवन कुमार चामलिंग के नेतृत्व वाली पूर्ववर्ती सरकार की भ्रष्टाचार संबंधी फाइलें तलाश रहे हैं. हमने सतर्कता विभाग को सक्रिय कर दिया है. जल्दी ही सीबीआई भी सिक्किम में भ्रष्टाचार के मामलों की जांच करेगी. सीबीआई को लाना ज़रूरी है क्योंकि यह एकमात्र एजेंसी है जो उन लोगों को जांच के दायरे में ला सकती है जिन्होंने पिछले 25 साल में बड़े स्तर पर भ्रष्टाचार किया है.’

समाचार एजेंसी पीटीआई-भाषा के अनुसार एसकेएम ने चुनाव घोषणा पत्र में भी सीबीआई के लिए सिक्किम के दरवाज़े खोलने का वादा किया था. जबकि सिक्किम डेमोक्रेटिक फ्रंट (एसडीएफ) की पूर्ववर्ती सरकार ने 2010 में एक अधिसूचना जारी की थी. इसमें सीबीआई के लिए राज्य के किसी अधिकारी या जनप्रतिनिधि के ख़िलाफ़ जांच शुरू करने से पहले प्रदेश सरकार की पूर्वअनुमति अनिवार्य कर दी गई थी.