उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के खिलाफ कथित तौर पर अपमानजनक विषय-वस्तु प्रसारित करने को लेकर एक निजी टीवी न्यूज चैनल के प्रमुख और संपादक को गिरफ्तार कर लिया गया है.

पीटीआई के मुताबिक शनिवार को नोएडा पुलिस अधिकारियों ने इसकी जानकारी देते हुए बताया कि चैनल ने 6 जून को एक परिचर्चा आयोजित की थी जिसमें एक महिला द्वारा मुख्यमंत्री पर लगाए गए कथित अपमानजनक आरोपों पर चर्चा की गई थी. एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि एक राजनीतिक दल से जुड़े कुछ कार्यकर्ताओं ने चैनल के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है. इन कार्यकर्ताओं का कहना है कि महिला द्वारा किए गए दावों को सत्यापित किए बगैर ही उनको प्रसारित करना गलत है.

गौतम बुद्ध नगर के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक वैभव कृष्ण ने कहा, ‘इससे कानून व्यवस्था के लिए परेशानी खड़ी हो सकती थी. जांच के दौरान यह पाया गया कि चैनल के संचालित होने के लिए कोई जरूरी लाइसेंस भी नहीं था. इस सिलसिले में नोएडा थाना फेस-3 पुलिस ने उक्त चैनल के संपादक और प्रमुख के खिलाफ दो अलग-अलग मामले दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार कर लिया है.’

इससे पहले शनिवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर आरोप लगाने वाली इसी महिला का एक वीडियो सोशल मीडिया पर साझा करने को लेकर उत्तर प्रदेश पुलिस ने एक पत्रकार के खिलाफ भी मामला दर्ज किया था. दिल्ली के स्वतंत्र पत्रकार प्रशांत कनोजिया को यूपी पुलिस की एक टीम अपने साथ लखनऊ ले गई, जहां उनसे पूछताछ की जा रही है.

प्रशांत ने गुरुवार को एक ट्वीट किया था जिसमें टीवी पत्रकारों से बात करते हुए एक महिला का वीडियो था. इसमें यह महिला दावा करती हुई दिखाई दे रही है कि वह मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से शादी करना चाहती है. इस वीडियो में दिखने वाली महिला का यह भी दावा है कि वह आदित्यनाथ से बीते एक साल से वीडियो चैट करती रही है और उसने उन्हें शादी का प्रस्ताव भी भेजा है. इस वीडियो को शेयर करते हुए प्रशांत ने यह कैप्शन भी दिया था, ‘इश्क छुपता नहीं छुपाने से योगी जी.’