दूसरी बार प्रधानमंत्री बनने के बाद नरेंद्र मोदी अपनी पहली विदेश यात्रा के दूसरे चरण में रविवार को श्रीलंका पहुंचे. नरेंद्र मोदी ने ‘पड़ोसी प्रथम’ की अपनी नीति के तहत अपनी इस यात्रा के लिए मालदीव और श्रीलंका को चुना है.

पीटीआई के मुताबिक रविवार को कोलंबो में श्रीलंका के प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसिंघे ने भंडरनायके अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर नरेंद्र मोदी का स्वागत किया. प्रधानमंत्री मोदी ने श्रीलंका पहुंचने के साथ ही ट्वीट किया, ‘फिर से श्रीलंका आकर अच्छा लग रहा है. पिछले चार साल में इस सुन्दर द्वीप देश की यह मेरी तीसरी यात्रा है. मेरा उत्साह भी श्रीलंका के लोगों की गर्मजोशी से कम नहीं है. भारत अपने मित्रों को उनकी जरूरत के वक्त कभी नहीं भूलता. भव्य स्वागत से अभिभूत हूं.’

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी श्रीलंका की इस एक दिवसीय यात्रा पर राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरिसेना, प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसिंघे और विपक्ष के नेता महिंदा राजपक्षे से मुलाकात करेंगे. साथ ही देश की मुख्य तमिल पार्टी ‘द तमिल नेशनल एलायंस’ के प्रतिनिधिमंडल के भी उनसे मिलने की संभावना है.

श्रीलंका में ईस्टर के दिन हुए बम धमाकों के बाद नरेंद्र मोदी की यात्रा को श्रीलंका के साथ भारत की एकजुटता के रूप में भी देखा जा रहा है. आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट द्वारा किए गए विस्फोटों में 250 से ज्यादा लोग मारे गए थे. मोदी इस हमले के बाद श्रीलंका पहुंचे पहले विदेशी नेता हैं.