जनता दल यूनाइटेड (जदयू) ने रविवार को अपनी राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में फैसला लिया है कि वह बिहार के बाहर राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन ( एनडीए) का हिस्सा नहीं रहेगी. इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक, बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के आवास पर हुई बैठक में फैसला लिया गया कि जदयू आगामी हरियाणा, दिल्ली, झारखंड और जम्मू-कश्मीर के चुनाव अकेले लड़ेगी.

हालांकि, बैठक में नीतीश कुमार ने यह भी स्पष्ट किया कि बिहार में जदयू का भाजपा के साथ गठबंधन बना रहेगा और 2020 में होने वाले विधानसभा चुनाव दोनों पार्टियां मिलकर लडेंगी. नीतीश कुमार ने बिहार के बाहर जदयू को मजबूत करने पर जोर दिया.

भाजपा और जदयू के बीच उस समय तनाव की खबरें आईं थींं, जब जदयू ने केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल होने से इन्कार कर दिया था. सूत्रों के मुताबिक, जदयू मंत्रिमंडल में अपने दो मंत्री चाहती थी,जबकि भाजपा ने सहयोगी दलों के लिए एक मंत्रिपद तय किया था. हालांकि,पार्टी महासचिव केसी त्यागी ने ऐसी किसी बात से इंकार किया और कहा कि नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री बनाने के लिए नीतीश कुमार ने 171 से ज्यादा जनसभाएं कींं, ऐसे में उनके बारे में इस तरह की अफवाह फैलाना गलत बात है.