पश्चिम बंगाल की ममता बनर्जी सरकार ने केंद्र को एक पत्र लिख कर कहा है कि राज्य में लोकसभा चुनाव के बाद झड़प की छिटपुट घटनाएं हुई हैं, लेकिन स्थिति ‘नियंत्रण में’ है. दरअसल, तृणमूल कांग्रेस और भाजपा के कार्यकर्ताओं के बीच हुई हिंसा में चार लोगों के मारे जाने के बाद केंद्र ने पश्चिम बंगाल सरकार को एक एडवाइजरी जारी की थी. उसी पर राज्य सरकार ने यह जवाब दिया है.

पीटीआई की खबर के मुताबिक राज्य के मुख्य सचिव मलय कुमार डे ने गृह मंत्रालय को लिखे पत्र में कहा है, ‘हिंसा के सभी मामलों में बिना किसी देरी के कड़ी और उचित कार्रवाई की गई. कुछ असामाजिक तत्वों ने चुनाव बाद झड़प की छिट पुट घटनाओं को अंजाम दिया. कानून प्रवर्तन अधिकारी ऐसे सभी मामलों में बिना किसी देरी के कड़ी एवं उचित कार्रवाई करते हैं.’ पत्र में आगे कहा गया, ‘स्थिति नियंत्रण में है और किसी भी परिस्थिति में इसे राज्य में कानून का राज बनाए रखने वाले तंत्र की नाकामी नहीं समझना चाहिए.’

इससे पहले, गृह मंत्रालय ने राज्य सरकार को एडवाइजरी जारी की थी. इसमें मंत्रालय ने पश्चिम बंगाल सरकार से राज्य में कानून व्यवस्था और शांति बनाए रखने को कहा था. एडवाइजरी में कहा गया, ‘पिछले कुछ हफ्तों से राज्य में बगैर उकसावे के हो रही हिंसा राज्य में कानून व्यवस्था बनाए रखने और जनता में विश्वास कायम करने में राज्य के कानून प्रवर्तन तंत्र की नाकामी प्रतीत होती है.’