पाकिस्तान ने भारत को लेकर अपने रुख में बदलाव का एक और संकेत दिया है. सोमवार को उसने ‘सैद्धांतिक रूप से’ फैसला किया कि वह शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) शिखर सम्मेलन में शामिल होने जा रहे भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए अपना हवाई मार्ग खोल देगा.

इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक भारत ने पाकिस्तान से अनुरोध किया था कि वह बिश्केक जाने के लिए प्रधानमंत्री मोदी के विमान को अपने हवाई क्षेत्र से होकर गुजरने की अनुमति दे. अखबार ने बताया कि एक अधिकारी ने समाचार एजेंसी पीटीआई से बातचीत में इसकी पुष्टि की. उन्होंने बताया कि इमरान खान सरकार ने भारत सरकार के अनुरोध को सैद्धांतिक रूप से स्वीकार कर लिया है.

खबर के मुताबिक अधिकारी ने कहा, ‘औपचारिकताएं पूरी होने के बाद भारत सरकार को फैसले से अवगत करा दिया जाएगा. नागरिक विमानन प्राधिकरण को भी निर्देश दिया जाएगा कि वह एयरमेन को सूचित कर दे.’ इसके साथ अधिकारी ने यह भी कहा कि पाकिस्तान को आशा है कि भारत शांति वार्ता करने की उसकी पेशकश स्वीकार करेगा.

कुछ ही दिन पहले पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने नरेंद्र मोदी को पत्र लिख कर साफ कहा था कि वे दोनों देशों के रिश्ते सुधारने के लिए सभी मुद्दों पर बातचीत के लिए तैयार हैं. संभवतः इसी संबंध में उनकी सरकार ने प्रधानमंत्री मोदी के विमान को अपने हवाई क्षेत्र से गुजरने देने का फैसला किया है. बता दें कि 13-14 जून को किर्गिस्तान के बिश्केक शहर में होने वाले इस सम्मेलन में इमरान खान को भी हिस्सा लेना है.