पत्रकारों पर पुलिसिया कार्रवाई को लेकर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर अब राजनीतिक हमले शुरू हो गए हैं. आज कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने इस मामले में योगी आदित्यनाथ और भाजपा की कड़ी आलोचना करते हुए कहा कि पत्रकारों को रिहा किया जाना चाहिए. राहुल गांधी ने यहां तक कहा, ‘उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री (योगी आदित्यनाथ) मूर्खतापूर्ण ढंग से व्यवहार कर रहे हैं. गिरफ्तार किए गए पत्रकारों को रिहा करने की जरूरत है.’

कांग्रेस अध्यक्ष ने अपने बारे में फैलाए जाने वाले ‘दुष्प्रचार’ का हवाला देते हुए ट्वीट किया, ‘अगर मेरे खिलाफ आरएसएस-भाजपा प्रायोजित विषैले दुष्प्रचार चलाने और गलत रिपोर्ट देने के लिए पत्रकारों को जेल में डाला जाए तो ज्यादातर अखबारों/समाचार चैनलों को बड़े पैमाने पर कर्मचारियों की कमी सामना करना पड़ जाएगा.’

गौरतलब है कि योगी के बारे में कथित तौर पर आपत्तिजनक पोस्ट शेयर करने तथा खबरें प्रसारित करने के लिए कुछ पत्रकारों को गिरफ्तार किया गया है. इनमें युवा पत्रकार प्रशांत कनोजिया भी शामिल हैं. बीती आठ जून को उत्तर प्रदेश पुलिस उन्हें दिल्ली स्थित उनके घर से उठा कर ले गई थी. वहीं, योगी आदित्यनाथ के खिलाफ कथित तौर पर अपमानजनक विषय-वस्तु प्रसारित करने को लेकर एक निजी टीवी न्यूज चैनल के प्रमुख और संपादक को भी गिरफ्तार किया गया है.