पाकिस्तान की सरकार ने बहुप्रतीक्षित करतारपुर कॉरिडोर के विकास के लिए केंद्रीय बजट में इस साल 100 करोड़ रुपये आवंटित किये हैं.

पाकिस्तान के जियो टीवी चैनल की खबर के अनुसार मंगलवार को सरकार की ओर से यह जानकारी दी गई है. खबर के मुताबिक इमरान खान की सरकार बजट में आवंटित किए गए इस धन का इस्तेमाल करतारपुर में बुनियादी संरचना के विकास और भूमि अधिग्रहण के लिए करेगी. सरकारी अधिकारियों द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार इस परियोजना की अनुमानित लागत 300 करोड़ रुपये है.

यह गलियारा पाकिस्तान के करतारपुर स्थित दरबार साहिब को भारत के गुरदासपुर जिले में स्थित डेरा बाबा नानक गुरुद्वारे से जोड़ेगा और भारतीय सिखों को वीजा के बिना आने-जाने की आजादी देगा. अब लोगों को करतारपुर साहिब जाने के लिए केवल एक अनुमति हासिल करनी होगी.

भारतीय सीमा से लेकर करतारपुर गुरद्वारे तक कॉरिडोर का निर्माण पाकिस्तान सरकार कराएगी, जबकि भारत के पंजाब में गुरदासपुर जिले के डेरा बाबा नानक गुरद्वारे से सीमा तक दूसरे हिस्से का निर्माण भारत सरकार कराएगी. अधिकारियों के अनुसार पाकिस्तान की ओर से बनाये जा रहे चार किलोमीटर के क्षेत्र में करीब 50 प्रतिशत कार्य पूरा हो चुका है.