अमेरिका चाहता है कि भारत सरकार धार्मिक आधार पर होने वाली हिंसा की तेजी से निंदा करे और गुनाहगारों को जवाबदेह ठहराए. ट्रंप प्रशासन की एक शीर्ष अधिकारी ने सांसदों से कहा कि इससे भारत के सुरक्षा और आर्थिक हित बढ़ाने में और भारत-अमेरिका के रिश्तों को मजबूत करने में मदद मिलेगी.

पीटीआई के मुताबिक दक्षिण और मध्य एशिया मामलों की वरिष्ठ ब्यूरो अधिकारी एलिस जी वेल्स ने एशियाई मामलों की उप-समिति से कहा कि भारत के साथ अपने रिश्तों में ट्रंप प्रशासन एक विविध और समावेशी समाज के संरक्षण के महत्व को बनाए रखेगा. अमेरिकी संसद की उप-समिति के समक्ष दिए गए बयान में वेल्स ने सांसदों से कहा कि भारतीय संविधान धार्मिक आजादी समेत मौलिक स्वतंत्रताओं को मजबूत संरक्षण प्रदान करता है.

खबर के मुताबिक उन्होंने कहा, ‘हम चाहते हैं कि भारत के लोकतांत्रिक रूप से निर्वाचित नेता एवं संस्थान धार्मिक आधार पर होने वाली हिंसा की तेजी से निंदा करें और अपराधियों को जवाबदेह ठहराएं. यह भारत के सुरक्षा तथा आर्थिक हितों को बढ़ाने और हमारे द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत करने में मददगार होगा.’