कांग्रेस के नेतृत्व वाले यूपीए (संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन) की अध्यक्ष सोनिया गांधी ने लोकसभा चुनाव बाद अपने पहले सार्वजनिक कार्यक्रम में भारतीय जनता पार्टी पर हमला बोला है. उन्होंने अपने संसदीय क्षेत्र उत्तर प्रदेश के रायबरेली में जनसभा को संबोधित करते हुए कहा, ‘सबसे बड़े दुर्भाग्य की बात (चुनाव प्रक्रिया को लेकर) ये है कि सिर्फ़ सत्ता में बने रहने के लिए मर्यादा की सभी सीमाएं लांघ दी गईं.’

सोनिया गांधी ने लोकसभा चुनाव की प्रक्रिया पर भी संदेह जताया. उन्होंने कहा, ‘बीते कुछ सालों में हमारी चुनाव प्रक्रिया को लेकर कई संदेह पैदा हो गए हैं. इस बार के लोकसभा चुनाव को ही ले लें. इसमें मतदाताओं को रिझाने के लिए सभी तरह के हथकंडे अपनाए गए. सभी को पता है कि चुनाव के दौरान जो हुआ उसमें क्या-कुछ नैतिक था और कितना अनैतिक.’

इससे पहले कांग्रेस ने भी चुनाव आयोग की आलोचना की थी. आयोग ने चुनाव के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ऐसे बयानों काे गंभीरता से नहीं लिया था, जो आचार संहिता का उल्लंघन करने वाले थे. याद दिला दें कि चुनाव आयोग ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के उनके बयानों के मामले में कुल छह बार क्लीन चिट दी थी. इसी तरह भाजपा अध्यक्ष अमित शाह को भी क्लीन चिट दी गई थीं.