भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के अध्यक्ष के सिवन ने कहा है कि भारत अपना खुद का स्पेस स्टेशन लॉन्च करने की योजना बना रहा है. खबरों के मुताबिक उन्होंने स्पेस स्टेशन की इस महत्वाकांक्षी परियोजना को मानवयुक्त गगनयान मिशन का विस्तार बताया है. उनका कहना है, ‘साल 2022 में गगनयान मिशन की शुरुआत करने के बाद हमें मानवयुक्त अभियानों को आगे बढ़ाना होगा.’

भारत का यह स्पेस स्टेशन 2030 तक लॉन्च हो सकता है और इसका वजन करीब 20 टन होगा. अभी तक सिर्फ अमेरिका, रूस और चीन के पास ही अपने स्पेस स्टेशन हैं. इनके अलावा कई देशों के समूह द्वारा संचालित एक स्पेस स्टेशन भी अंतरिक्ष में मौजूद है.

जहां तक भारत की बात है तो मानवयुक्त अंतरिक्ष मिशन के लिए केंद्र सरकार पहले ही इसरो को 10 हजार करोड़ रुपये का बजट आवंटित कर चुकी है. वहीं बीते दिनों के सिवन ने इस बारे में कहा था कि इसरो ने दिसंबर 2021 तक मनुष्य को अंतरिक्ष में भेजने का लक्ष्य तय कर रखा है. अगर इस समय तक भारत यह उपलब्धि हासिल कर लेता है तो अपने दमपर अंतरिक्ष में यात्रियों को भेजने वाला वह दुनिया का चौथा देश भी होगा.

फिलहाल इसरो ने अपना पूरा ध्यान चंद्र मिशन पर केंद्रित कर रखा है. इसी बुधवार को के सिवन ने आगामी 15 जुलाई को चंद्रयान- 2 का प्रक्षेपण किए जाने की घोषणा भी की थी. चंद्रयान- 2 भी भारत के महत्वाकांक्षी अंतरिक्ष अभियानों में से एक है. इसके जरिये भारत चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर अपना लैंडर उतारेगा जो उसकी सतह के परीक्षण के साथ चंद्रमा पर आने वाले भूकंपों को मापने का काम भी करेगा.