केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह इस साल दिसंबर तक भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) अध्यक्ष के पद पर बने रह सकते हैं. भाजपा के नेता भूपेंद्र सिंह ने गुरुवार को पार्टी की एक बैठक के बाद पत्रकारों के साथ बातचीत के दौरान यह बात इशारों में कही. खबरों के मुताबिक इस मौके पर उन्होंने यह भी कहा, ‘अगले छह महीने के दौरान पहले पार्टी संगठन के मंडल, जिला और राज्य स्तर के चुनाव कराए जाएंगे. इसके बाद पार्टी का नया अध्यक्ष चुना जाएगा.’

उन्होंने आगे कहा, ‘इस दौरान पार्टी ने अपने सदस्यों की संख्या में 20 फीसदी इजाफे का लक्ष्य भी रखा है. सदस्यता अभियान को आगे बढ़ाने की यह जिम्मेदारी मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को सौंपी गई है.’

गौरतलब है कि भाजपा अध्यक्ष के तौर पर अमित शाह का तीन वर्षों का कार्यकाल इस साल की शुरुआत में पूरा हो गया था. लेकिन पार्टी ने बीते लोकसभा चुनाव तक उन्हें इस पद पर बने रहने को कहा था. वहीं केंद्र में गठित नई सरकार में गृह मंत्री की जिम्मेदारी मिलने के बाद भाजपा के नए अध्यक्ष के नाम को लेकर अटकलें लगनी शुरू हो गई थीं. लेकिन माना जा रहा है कि इसी साल महाराष्ट्र, हरियाणा, झारखंड जैसे राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव तक अमित शाह इस पद पर बने रहेंगे.

इधर, भूपेंद्र सिंह के मुताबिक गुरुवार को पार्टी के राष्ट्रीय महासचिवों और दूसरे बड़े नेताओं के साथ हुई बैठक को अमित शाह ने भी संबोधित किया था. उस दौरान उन्होंने कहा था कि भाजपा ने अभी अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन नहीं किया है. निकट भविष्य में पार्टी उन राज्यों में भी अपने पैर फैलाएगी जहां तक फिलहाल वह नहीं पहुंची है.

मौजूदा राजनीति के ‘चाणक्य’ कहे जाने वाले अमित शाह की अध्यक्षता में भाजपा ने विभिन्न राज्यों के विधानसभा चुनावों में सफल प्रदर्शन किया है. इसके अलावा उनकी अध्यक्षता में ही भाजपा को लोकसभा के पिछले चुनाव में अब तक की सबसे अधिक 303 संसदीय सीटें जीतने में भी कामयाबी मिली है.