दिग्गज बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने खेलों से जुड़े उत्पाद बनाने वाली ऑस्ट्रेलियाई कंपनी स्पार्टन स्पोर्ट्स इंटरनेशनल के खिलाफ एक केस दर्ज कराया है. ऑस्ट्रेलिया के फेडरल कोर्ट में दर्ज कराए गए इस केस के जरिये उन्होंने इस कंपनी से 20 लाख ऑस्ट्रेलियाई डॉलर (​करीब 9.50 करोड़ रुपये) की मांग की है.

खबरों के मुताबिक साल 2016 में सचिन तेंदुलकर और स्पार्टन के बीच एक करार हुआ था. उसके तहत स्पार्टन को क्रिकेट के बैट, कपड़ों जैसे अपने उत्पादों पर सचिन तेंदुलकर की तस्वीर लगाने की इजाजत मिली थी. उसके बदले में स्पार्टन को उन्हें हर साल 20 लाख डॉलर का भुगतान करना था. इसके बाद सचिन तेंदुलकर ने इस कंपनी के उत्पादों के प्रचार के संबंध में ब्रिटेन के लंदन और भारत के मुंबई जैसे शहरों की यात्राएं भी की थीं. लेकिन तय करार के तहत कंपनी से उन्हें कोई भुगतान नहीं मिला.

वहीं कोई भुगतान न मिलने को लेकर तेंदुलकर ने बीते साल सितंबर में इस कंपनी को आधिकारिक रूप से इसकी सूचना दी थी लेकिन तब भी उन्हें वहां से कोई जवाब नहीं मिला था. इसके मद्देनजर उन्होंने करार को रद्द करते हुए कंपनी से उसके उत्पादों के साथ अपने नाम का इस्तेमाल बंद करने के लिए कहा था. इसके बावजूद कंपनी ने उनके नाम का इस्तेमाल बंद नहीं किया था. इधर, स्पार्टन की तरफ से इस पूरे मामले पर फिलहाल कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है.

सचिन तेंदुलकर ने 2013 में 24 साल लंबे अपने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट करियर से संन्यास की घोषणा की थी. उनके नाम पर क्रिकेट के एकदिवसीय और टेस्ट मैचों में सौ शतकों के साथ 34 हजार से ज्यादा रन बनाने का रिकॉर्ड भी दर्ज है.