चक्रवाती तूफान ‘वायु’ ने एक बार फिर रास्ता बदल लिया है. इससे उसके गुजरात के तटीय क्षेत्र से टकराने की संभावना एक बार फिर बढ़ गई है. खबरों के मुताबिक अगले 48 घंटों में ‘वायु’ गुजरात से टकरा सकता है.

शुक्रवार को राज्य के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने कहा था कि चक्रवाती तूफान से अब कोई खतरा नहीं है, क्योंकि उसने रास्ता बदल लिया है. लेकिन इसके बाद पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के सचिव एम राजीवन ने बताया कि 16 जून को ‘वायु’ दोबारा मुड़ेगा और 17-18 जून को कच्छ से टकरा सकता है. हालांकि राजीवन ने ‘वायु’ की तीव्रता कम रहने की संभावना जताई है.

वहीं, अहमदाबाद मौसम विज्ञान केंद्र के अतिरिक्त निदेशक मनोरमा मोहंती ने कहा कि ‘वायु’ के कच्छ या सौराष्ट्र से टकराने की भविष्यवाणी करना जल्दबाजी होगी. एनडीटीवी के मुताबिक उन्होंने कहा, ‘हो सकता है अगले 48 घंटों में तूफान कमजोर पड़ जाए और समुद्र में ही खत्म हो जाए.’

इससे पहले ‘वायु’ के पोरबंदर और वेरावल के बीच में टकराने की संभावना जताई थी. बाद में मौसम विभाग ने बताया कि तूफान ने अपनी दिशा बदल ली. उसके मुताबिक ‘वायु’ ओमान की तरफ बढ़ रहा था. इस खबर से पहले गुजरात में सुरक्षा व बचाव की बड़े स्तर पर तैयारी की गई थी.