इतिहास में 15 जून का दिन जापान की एक ऐसी त्रासदी से जुड़ा है, जिसे वहां के लोग 123 साल बाद भी भूला नहीं पाए हैं. साल 1896 में आज ही के दिन जापान में ऐसा भूकंप आया जिससे सानरिकू तट पर आई सुनामी ने करीब 22,000 लोगों की जिंदगियां ले ली थीं. इसे जापान के इतिहास की सबसे विनाशकारी सुनामी माना जाता है.

बताया जाता है कि इस सुनामी की लहरें 80 से 125 फीट ऊंची थीं, जिनके सामने जो आया उसका निशान मिट गया. हजारों घर उजड़ गए और गांव के गांव तबाह हो गए. बाद में 1933 और 2011 में भी जापान के इसी तट पर भूकंप और सुनामी आए.

देश-दुनिया के इतिहास में 15 जून की तारीख में दर्ज अन्य महत्वपूर्ण घटनाओं का सिलसिलेवार ब्यौरा इस प्रकार है:

1908 : कलकत्ता शेयर बाजार की शुरुआत.

1954 : यूरोप के फुटबॉल संगठन यूएफा (यूनियन ऑफ यूरोपियन फुटबाल एसोसिएशन) का गठन.

1971 : ब्रिटेन की संसद में मतदान के बाद स्कूलों में बच्चों को मुफ्त दूध देने की योजना को समाप्त करने का प्रस्ताव. हालांकि भारी विरोध के कारण इसे सितंबर में ही लागू किया जा सका.

1982 : फाकलैंड में अर्जेंटीना की सेना ने ब्रिटिश सेना के सामने घुटने टेके.

1988 : नासा ने स्‍पेस व्‍हिकल एस-213 लॉन्‍च किया.

1994 : इजरायल और वैटीकन सिटी में राजनयिक संबंध स्थापित.

1997 : आठ मुस्लिम देशों द्वारा इस्तांबुल में डी-8 नामक संगठन का गठन.

2001 : ‘शंघाई पांच’ को ‘शंघाई सहयोग संगठन’ का नाम दिया गया. भारत और पाकिस्तान दोनों को सदस्यता न देने का निर्णय.

2004 : ब्रिटेन के साथ परमाणु सहयोग को राष्ट्रपति बुश की स्वीकृति मिली.

2006 : भारत और चीन ने पुराना सिल्क रूट खोलने का निर्णय लिया.

2008 : ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय के वैज्ञानिकों ने पहली बार अल्ट्रावायलेट प्रकाश का विस्फोट कर बड़े सितारों की स्थिति देखी.