प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में नीति आयोग की बैठक शुरू हो गई है. इस मौके पर दिए अपने संबोधन में नरेंद्र मोदी ने कहा है, ‘सबका साथ, सबका विकास और सबका विश्वास के मंत्र को पूरा करने में नीति आयोग मुख्य भूमिका निभाएगा.’ इसके अलावा प्रधानमंत्री मोदी ने 2024 तक भारतीय अर्थव्यवस्था को पांच ट्रिलियन डॉलर या पांच हजार अरब डॉलर तक करने का लक्ष्य भी रखा है. साथ ही कहा, ‘यह लक्ष्य अपने आप में चुनौतीपूर्ण है लेकिन संयुक्त प्रयासों से इसे हासिल किया जा सकता है.’

खबरों के मुताबिक इस मौके पर नरेंद्र मोदी ने जल संकट के मुद्दे पर भी चर्चा की. साथ ही इस समस्या से बचाव के लिए वर्षा जल संचयन पर जोर देने के लिए भी कहा. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि सूखे के प्रभाव से बचाने के लिए एक नए जल शक्ति मंत्रालय का गठन किया गया है जो एकीकृत तौर पर इस दिशा में प्रभावी काम करेगा.

केंद्र में नई सरकार के गठन के बाद नीति आयोग की यह पहली ​बैठक है जिसमें गृह मंत्री अमित शाह के अलावा विभिन्न राज्यों के मुख्यमंत्री और राज्यपाल भी हिस्सा ले रहे हैं. वहीं पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह खराब स्वास्थ्य की वजह से इस बैठक में शामिल नहीं हुए हैं. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने पहले ही इस बैठक से दूरी बनाने की घोषणा कर दी थी. उनके अलावा तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव भी इस बैठक में शामिल नहीं हुए हैं.

प्राप्त जानकारी के मुताबिक नीति आयोग की इस बैठक में नदियों के संरक्षण और उन्हें पुनर्जीवित करने के प्रयासों, कृषि क्षेत्र की जरूरतों, वन, नक्सलवाद, नक्सल प्रभावित क्षेत्रों जैसे मुद्दों को लेकर चर्चा होगी. इसके अलावा बैठक में बिहार और आंध्र प्रदेश जैसे राज्यों की तरफ से उन्हें विशेष राज्य का दर्जा दिए जाने संबंधी मांग उठने की भी संभावना है.