बिहार में चमकी बुखार से सौ से ज्यादा बच्चे मर चुके हैं. राज्य की नीतीश कुमार सरकार इसे लेकर जबर्दस्त आलोचना का सामना कर रही है. इसके बावजूद उसकी बेफिक्री अभी तक बरकरार है. रविवार को इसकी मिसाल देखने को मिली. न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक इस दिन केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन के साथ बिहार के हालात पर प्रेस कॉन्फ्रेंस कर रहे राज्य के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पाण्डेय पत्रकारों से मैच का स्कोर पूछते दिखाई दिए.

एजेंसी ने उस समय का वीडियो भी साझा किया है जब एक जानलेवा रोग से हर रोज मर रहे बच्चों पर हो रही बातचीत के दौरान भी स्वास्थ्य मंत्री को भारत-पाकिस्तान मैच की पड़ी थी. एनडीटीवी के मुताबिक वीडियो में मंगल पाण्डेय पूछ रहे हैं, ‘अब तक कितने विकेट गिरे?’ इस पर किसी ने जवाब दिया, ‘चार विकेट.’ यह वीडियो सामने आने के बाद आरजेडी, कांग्रेस, हिंदुस्तान अवाम मोर्चा और वाम दलों ने मंगल पाण्डेय के इस्तीफे की मांग की है. इन विपक्ष दलों ने राज्य के स्वास्थ्य मंत्री पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए यह मांग की है.

इस बीच, खबर आई है कि चमकी बुखार मामले में हर्षवर्द्धन और मंगल पाण्डेय के खिलाफ लापरवाही बरतने का केस दायर किया गया है. नवभारत टाइम्स की खबर के मुताबिक सामाजिक कार्यकर्ता तमन्ना हाशमी ने मुजफ्फरपुर स्थित निचली अदालत में दायर मामले में दोनों मंत्रियों को आरोपित बनाया है. अदालत ने इस मामले की सुनवाई की तारीख 24 जून तय की है. वहीं, राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने बिहार सरकार के मुख्य सचिव और केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय को नोटिस भेजा है.