ईरान पर अमेरिकी सख्ती को लेकर सऊदी अरब को जो डर सता रहा था, अब वही होता नजर आ रहा है. पिछले दिनों कई तेल वाहक जहाजों पर हमले के बाद सऊदी अरब ने दुनिया से तेल के निर्यात के लिए सुरक्षित जलमार्ग उपलब्ध कराने की अपील की है.

पीटीआई के मुताबिक मंगलवार को सऊदी अरब की सरकारी मीडिया ने यह जानकारी दी है. उसके मुताबिक सऊदी के मंत्रिमंडल ने विश्व शक्तियों से ईरान के आस-पास के मार्गों को सुरक्षित करने के लिए कड़े कदम उठाने की मांग की है.

बीते महीने सऊदी अरब के एक तेल टैंकर को निशाना बनाया गया था. इसके बाद बीते गुरूवार को ओमान के पास फारस की खाड़ी में जापान के कोकूका करेजियस और नॉर्वे के फ्रंट आल्टेयर जहाज पर मिसाइल से हमला किया गया था.

इसके बाद अमेरिका ने इन सभी हमलों के लिए ईरान को जिम्मेदार ठहराया था. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा था, ‘इस हमले के पीछे हर जगह ईरान लिखा हुआ है, यह उसकी ही साजिश है.’ ट्रंप ने ईरान को युद्ध की चेतावनी भी दी थी. हालांकि, ईरान ने इन हमलों से इनकार किया है.

खबरों के मुताबिक इन हमलों के लिए अमेरिका द्वारा ईरान को जिम्मेदार ठहराए जाने के बाद से मध्यपूर्व में तनाव और बढ़ गया है. और इस वजह से सऊदी अरब को आगे भी ऐसे हमलों का भय सता रहा है.