तमिलनाडु के मुख्यमंत्री ई पलानिस्वामी ने कहा है कि राज्य में जल संकट की खबरों को मीडिया में बढ़ा-चढ़ाकर पेश किया जा रहा है. इससे ऐसा लगने लगा है कि पूरे राज्य में ही पानी की भारी किल्लत हो गई है. खबरों के मुताबिक ई पलानिस्वामी ने यह बात चेन्नई में वहां की पूर्व मुख्यमंत्री जयललिता के निर्माणाधीन स्मारक का दौरा करने के मौके पर पत्रकारों से बातचीत करते हुए कही.

इस मौके पर उन्होंने यह भी कहा, ‘मानसून में देरी और भूजल में गिरावट की वजह से राज्य के कुछ क्षेत्रों को पानी की कमी का सामना करना पड़ा है. लेकिन उन इलाकों में टैंकरों के जरिये पानी की आपूर्ति की जा रही है.’ उन्होंने आगे कहा, ‘तमिलनाडु में मानसून की शुरुआत अक्टूबर-नवंबर से होती है. ऐसे तब तक पानी की कमी की यह स्थिति बनी रह सकती है.’ इसके साथ ही ई पलानिस्वामी ने राज्य के लोगों से भी इस समस्या को लेकर सहयोग करने की अपील की है.

इससे पहले ​बीते दिनों पानी की कमी की वजह से तमिलनाडु के कुछ इलाकों में हिंसक झड़पें होने की खबरें आई थीं. इसके अलावा चेन्नई की कुछ आईटी कंपनियों ने अपने कर्मचारियों से घर से ही काम करने के लिए कहा था जबकि कुछ कंपनियों ने काम के घंटे में भी कटौती की थी. वहीं कुछ होटलों ने दोपहर का खाना परोसना बंद कर दिया था. इस दौरान पानी की किल्लत पर संज्ञान लेते हुए बीते हफ्ते मद्रास हाईकोर्ट ने राज्य सरकार से रिपोर्ट भी मांगी थी.