राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने आज संसद के दोनों सदनों को संबोधित किया. उन्होंने अपने अभिभाषण में नई नरेंद्र मोदी सरकार के अगले पांच साल के कामकाज का जिक्र किया. इस दौरान राष्ट्रपति ने कहा कि महिला सशक्तिकरण उनकी सरकार की प्राथमिकता है. रामनाथ कोविंद ने कहा कि तीन तलाक और हलाला जैसी प्रथाओं का खत्म होना जरूरी है ताकि देश में हर बहन-बेटी के लिए समान अधिकार सुनिश्चित हो सकें. इसके अलावा राष्ट्रपति कई अहम मुद्दों पर अपनी बात रखी.

1. बार-बार चुनाव आयोजित होने से विकास कार्य प्रभावित होते हैं. इसीलिए एक राष्ट्र एक चुनाव की व्यवस्था लागू होनी चाहिए. जिससे देश का विकास तेजी से हो सके. सभी सांसद इस योजना के प्रस्ताव पर गंभीरता से विचार करें.

2. अवैध तरीके से भारत में आए विदेशी आंतरिक सुरक्षा के लिए बड़ा खतरा हैं. मेरी सरकार ने तय किया है कि एनआरसी को लागू किया जाएगा. घुसपैठ को रोकने के लिए सीमा पर सुरक्षा और ज्यादा बढ़ाई जाएगी.

3. आतंकवाद के मुद्दे पर दुनिया भारत के साथ है. मसूद अजहर को अंतरराष्ट्रीय आतंकी घोषित करवाना बड़ी कामयाबी. सीमा पार आतंकवादी ठिकानों पर सर्जिकल स्ट्राइक और एयर स्ट्राइक करके भारत ने अपने इरादों और क्षमताओं को प्रदर्शित किया है.

4. 2022 तक किसान की आय दोगुनी हो सके, इसके लिए कई कदम उठाए गए हैं. सिंचाई परियोजनाओं को पूरा करने काम, फसल बीमा योजना का विस्तार जैसे फैसले लिए गए हैं.

5. भारत को विश्व में एक विशेष पहचान मिली है. साल 2022 में भारत जी-20 सम्मेलन की मेजबानी करेगा.

6. हमारी कोशिश है कि भारत साल 2024 तक पांच ट्रिलियन डॉलर की इकॉनमी बने.

7. मेरी सरकार भ्रष्टाचार के लिए ‘कतई बर्दाश्त नहीं करने’ की अपनी नीति को और अधिक प्रभावशाली एवं कारगर बनाएगी. लोकपाल की नियुक्ति से भी पारदर्शिता सुनिश्चित की जाएगी.

8. टैक्स व्यवस्था में लगातार सुधार के साथ-साथ इसका सरलीकरण भी किया जा रहा है. पांछ लाख रुपये तक की आय को कर-मुक्त करने का फैसला इसी दिशा में उठाया गया एक महत्वपूर्ण कदम है.

9. जम्मू-कश्मीर के नागरिकों को सुरक्षा देने के लिए प्रयास किए जा रहे हैं. यहां हुए शांतिपूर्ण चुनाव एक बड़ी सफलता है.

10. भारत माला परियोजना के तहत 2022 तक देशभर में 35,000 किलोमीटर नेशनल हाईवे का निर्माण किया जाना है.