पश्चिम बंगाल के भाटपारा इलाके में एक बार फिर हिंसा की खबर है. इसकी वजह से यहां दो लोगों की मौत हो गई है साथ ही तीन अन्य लोग घायल भी हुए हैं. जानकारी के मुताबिक इलाके में तनाव फैलाने वालों ने इस दौरान देसी बम के अलावा बंदूक से गोलियां भी दागी थीं. फिलहाल इस इलाके में प्रदेश पुलिस के साथ त्वरित कार्य बल (आरएएफ) की टीम भी तैनात की गई है.

उधर, इस हिंसा के मद्देनजर प्रदेश की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने आपातकालीन बैठक बुलाई है. साथ ही भाटपारा में बड़ी संख्या में लोगों के एक साथ इकट्ठा होने पर भी रोक लगा दी है. इस दौरान भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के स्थानीय सांसद अर्जुन सिंह ने इस हिंसा के पीछे तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के ‘गुंडों’ का हाथ बताया है. वहीं भाजपा के वरिष्ठ नेता कैलाश विजयवर्गीय ने कहा है, ‘इस घटना के मद्देनजर भाजपा सांसदों का एक प्रतिनिधिमंडल भाटपारा का दौरा करेगा. साथ ही वह केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को इस पर रिपोर्ट भी सौंपेगा.

लोकसभा के बीते चुनाव के दौरान भी पश्चिम बंगाल में हिंसा के छोटे-बड़े कई मामले देखने को मिले थे. इसके अलावा अपने दो कार्यकर्ताओं की मौत के बाद बीते हफ्ते ही भाजपा कार्यकर्ताओं ने विरोध-प्रदर्शन करते हुए पुलिस मुख्यालय की तरफ मार्च किया था. उस वक्त प्रदर्शनकारियों को रोकने के लिए पुलिस ने आंसू गैस के गोले दागे थे. साथ ही पानी की तेज बौछार करने के अलावा पुलिस को लाठी चार्ज भी करना पड़ा था.