अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ईरान द्वारा एक अमेरिकी ड्रोन को मार गिराए जाने के जवाब में सैन्य हमले को मंजूरी दे दी थी, लेकिन बाद में उन्होंने इसे वापस ले लिया. अल जजीरा के मुताबिक अमेरिका के चर्चित अखबार न्यूयॉर्क टाइम्स ने अपनी एक रिपोर्ट में यह जानकारी दी है. खबर के मुताबिक एक अमेरिकी अधिकारी ने बताया कि उनकी सेना ने ईरान पर सीमित हमले करने की तैयारी कर ली थी. नाम नहीं जाहिर करने की शर्त पर इस अधिकारी ने कहा कि सेना ईरान के रडारों और मिसाइल बैटरी पर हमला करती. लेकिन इस संबंध में दी गई मंजूरी अचानक वापस ले ली गई.

अखबार ने यह भी बताया कि यह तीसरा मौका है जब ट्रंप ने मध्य पूर्व में हमले की कार्रवाई को रोक दिया. इससे पहले 2017 और 2018 में उन्होंने सीरिया में तय किए गए सैन्य लक्ष्यों पर हमला करने से अपनी सेना को रोक दिया था. हालांकि ईरान के मामले में यह साफ नहीं है कि ट्रंप उसके खिलाफ हमले से जुड़े फैसले को रोक कर रखेंगे या इसकी दोबारा अनुमति देंगे. फिलहाल अमेरिकी राष्ट्रपति के फैसले को उनके उस बयान से जोड़ कर देखा जा रहा है जिसमें उन्होंने कहा था कि ईरान ने जानबूझकर अमेरिकी ड्रोन नहीं मार गिराया था. जबकि उससे पहले ट्रंप ने कहा था कि उनके ड्रोन पर हमला कर ईरान ने बहुत बड़ी गलती की है.