लोकसभा में तीन तलाक विधेयक पेश, कांग्रेस सहित कई दलों ने इसका विरोध किया

तीन तलाक विधेयक को आज लोकसभा में पेश किया गया. इस दौरान काफी हंगामा देखने को मिला. केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने इस विधेयक को पेश करते हुए कहा कि इससे मुस्लिम महिलाओं के अधिकारों की रक्षा होगी. नरेंद्र मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का ये पहला विधेयक है जिसे निचले सदन में पेश किया गया है. इसमें तीन तलाक देने वाले को तीन साल तक की सजा का प्रावधान है. उधर, कांग्रेस सहित कई दलों ने इसका विरोध किया. कांग्रेस नेता शशि थरूर ने कहा कि इस मुद्दे पर एक ऐसा कानून बनाया जाए जिसके दायरे में सभी समुदायों के लोग आएं. मोदी सरकार के पिछले कार्यकाल में भी तीन तलाक पर विधेयक लाया गया था. लेकिन लोकसभा से पारित होने के बाद विपक्षी पार्टियों के विरोध के चलते ये राज्यसभा में अटक गया था.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा - योग धर्म और जाति से ऊपर

आज पूरी दुनिया में पांचवां अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाया जा रहा है. देश में इस मौके पर मुख्य आयोजन झारखंड की राजधानी रांची में हुआ. यहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 40 हजार लोगों के साथ योग किया. इस मौके पर उन्होंने कहा कि योग धर्म और जाति सहित हर तरह के भेद से परे है. इस वर्ष के कार्यक्रम के लिए मुख्य विषय ‘हृदय के लिए योग’ रखा गया है. इसके तहत हृदय को मजबूत बनाए रखने और इससे जुड़ी बीमारियों को दूर रखने के लिए योग के महत्व को बताया जा रहा है. प्रधानमंत्री ने कहा कि योग इस बीमारी की रोकथाम में अहम भूमिका निभा सकता है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पहल पर संयुक्त राष्ट्र ने 2015 में 21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के रूप में मनाने का आह्वान किया था. देखते ही देखते दुनिया के तमाम देश इस मुहिम में शामिल हो गए.

एचडी देवगौड़ा का बड़ा बयान, कहा - कर्नाटक में कभी भी मध्यावधि चुनाव हो सकते हैं

पूर्व प्रधानमंत्री और जनता दल सेक्युलर यानी जेडीएस के मुखिया एचडी देवगौड़ा ने एक बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा है कि कर्नाटक में कभी भी मध्यावधि चुनाव हो सकते हैं. राज्य में जेडीएस-कांग्रेस गठबंधन की सरकार है. देवगौड़ा का कहना है कि कांग्रेस का जिस तरह का बर्ताव है उसके चलते कहा नहीं जा सकता कि ये सरकार कब तक चलेगी. कर्नाटक की 224 सदस्यों वाली विधानसभा के लिए पिछले साल चुनाव हुआ था. इसमें किसी को पूर्ण बहुमत नहीं मिला था. भाजपा 104 सीटों के साथ सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी थी. वहीं कांग्रेस को 80 और जेडीएस को 37 सीटें मिली थीं. खंडित जनादेश के बावजूद भाजपा ने सरकार बनाने का दावा पेश किया था. बीएस येदियुरप्पा ने शपथ भी ले ली थी. लेकिन वे बहुमत साबित नहीं कर पाए और सरकार गिर गई. इसके बाद कांग्रेस और जेडीएस ने गठबंधन कर लिया था.

भ्रष्टाचार के खिलाफ केंद्र सरकार की सख्ती जारी, सभी विभागों के कर्मचारियों के काम की समीक्षा का निर्देश दिया

भ्रष्टाचार के खिलाफ मोदी सरकार का सख्त रुख जारी है. इसी सिलसिले में उसने बैंकों, सार्वजनिक उपक्रमों और अपने सभी विभागों से कर्मचारियों के सेवा रिकार्ड की समीक्षा करने को कहा है. इसका मकसद भ्रष्ट और अक्षम अधिकारियों को बाहर का रास्ता दिखाना है. हालांकि कार्मिक मंत्रालय ने इन विभागों से ये सुनिश्चित करने को भी कहा है कि इस प्रक्रिया में मनमानी न हो. अपनी दूसरी पारी में मोदी सरकार भ्रष्टाचार को लेकर काफी गंभीर रुख अपनाती दिख रही है. बीते दिनों उसने कर विभाग के कई अधिकारियों को जबरन रिटायर कर दिया था. इनमें मुख्य आयुक्त स्तर तक के अधिकारी भी थे. इन पर भ्रष्टाचार और आय से अधिक संपत्ति जैसे कई आरोप थे.

अमेरिकी अखबार न्यूयॉर्क टाइम्स का बड़ा दावा, कहा - ईरान पर सैन्य कार्रवाई की मंजूरी देने के बाद डोनाल्ड ट्रंप ने इरादा बदला

अमेरिकी अखबार न्यूयॉर्क टाइम्स ने एक बड़ा दावा किया है. उसके मुताबिक अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने गुरुवार को ईरान पर जवाबी सैन्य कार्रवाई की अनुमति दे दी थी, लेकिन बाद में उन्होंने अपना मन बदल लिया. उसके मुताबिक ये सैन्य कार्रवाई ईरान द्वारा एक अमेरिकी जासूसी ड्रोन को मार गिराए जाने के जवाब में होनी थी. ईरान ने गुरुवार को दावा किया था कि एक अमेरिकी ड्रोन उसके इलाके में घुस आया था जिसे मार गिराया गया. ये घटना ईरान के उसी दक्षिणी तटीय प्रांत होर्मोज्गान में हुई जहां हाल में एक तेल टैंकर पर हमला हुआ था. अमेरिका ने इसका आरोप भी ईरान पर लगाया था. उधर, ईरान का कहना था कि हो सकता है अमेरिका ने खुद ही ये हमला करवाया हो.