दक्षिण कोरिया की ऑटोमोबाइल कंपनी किआ मोटर्स ने एसयूवी ‘सेल्टॉस’ की शक्ल में भारत में अपनी पहली कार से पर्दा हटा दिया है. यह इस कार का ग्लोबल डेब्यू भी है. कंपनी ने सेल्टॉस को सबसे पहले ऑटो एक्सपो-2018 में कॉन्सेप्ट के तौर पर शोकेस किया था. लुक्स के मामले में यह कार काफी हद तक उसी कॉन्सेप्ट कार से मिलती-जुलती है. किआ ने अपनी इस नई पेशकश को दो बेहतरीन डिज़ाइन लाइन- टेक और जीटी में उपलब्ध कराया है. जानकारों के अनुसार सेल्टॉस अपने सेगमेंट में देश की पहली कार है जिसे दो डिज़ाइन में उपलब्ध कराया गया है. इनमें से किआ सेल्टॉस की टेक लाइन को आरामदायक यात्रा के लिहाज़ से तैयार किया गया है तो जीटी लाइन में ज़्यादा आधुनिक फीचर्स मुहैया कराए गए हैं.

लुक्स के मामले में सेल्टॉस के फ्रंट में किआ की सिग्नेचर स्टाइल वाली फॉक्स सिल्वर सराउंडेड टाइगर नोज़ ग्रिल लगाई गई है. इसके अलावा हार्टबीट इफेक्ट वाले एलईडी डे-टाइम रनिंग लैंप (डीआरएल) के साथ किआ सिग्नेचर स्टाइल के पतले एलईडी हैडलैंप सेल्टॉस को बेहद आकर्षक बनाते हैं. साथ ही कार की आउटसाइड और इनसाइड में कई सारे रेड कलर के इंसर्ट दिए हैं जो इसे स्पोर्टी फील देते हैं.

किआ मोटर्स ने इस नई पेशकश के साथ कई और भी फर्स्ट इन सेगमेंट फीचर्स दिए हैं. इनमें- 10.25-इंच का टचस्क्रीन इंफोटेनमेंट सिस्टम, साउंड मूड लैंप 360 डिग्री सराउंड कैमरा और बोस का 8-स्पीकर सराउंड साउंड प्रमुखता से शामिल है. किआ ने सेल्टॉस की फ्रंट सीटों के बीच एयर प्यूरिफायर के साथ पिछली सीट पर बैठे लोगों के लिए रियर एसी वेंट्स दिए हैं. सेल्टॉस में सेगमेंट का पहला 8-इंच का हैड्स अप डिस्प्ले भी मिलता है जो ड्राइवर का ध्यान भटके बिना ही उसे कार की पूरी जानकरी देता है. साथ ही कार में रियर सनशेड कर्टन, मल्टी फंक्शन थ्री स्पॉक स्टीअरिंग व्हील और 7-इंच कलर टीएफटी यूनिट इंस्ट्रुमेंट कंसोल भी मिलता है. इनके अलावा सेल्टॉस में वायरलेस चार्जिंग, क्रूज़ कंट्रोल और ऑटोमैटिक क्लाइमेट कंट्रोल जैसे भी फीचर्स दिए गए हैं.

एमजी हेक्टर और ह्युंडई वेन्यू के बाद किआ सेल्टोस भी एक कनेक्टेड कार है. कंपनी ने इस फीचर के बारे में ज्यादा जानकारी देते हुए कहा है कि इसकी मदद से कार के इग्निशन, एसी कंट्रोल समेत कई ज़रूरी फीचर्स फोन की मदद से दूर से ही ऑपरेट किए जा सकते हैं. इनके अलावा कार के साथ रोड साइड असिसटेंट (मुसीबत के समय अपने आप ही किआ कॉल सेंटर पर कॉल करता है), एप्पल कारप्ले और एंड्रॉइड ऑटो कनेक्टिविटी फीचर्स दिए गए हैं.

परफॉर्मेंस के मामले में किआ ने सेल्टॉस को पेट्रोल और डीज़ल दोनों ट्रिम में लॉन्च किया है. सेल्टॉस के साथ बीएस-6 मानक पर खरे उतरने वाले 1.5-लीटर क्षमता का पेट्रोल और 1.4-लीटर क्षमता का जीडीआई टर्बो डीज़ल इंजन उपलब्ध कराए गए हैं. इन दोनों ही इंजनों में कंपनी ने 6-स्पीड मैनुअल, सीवीटी ऑटोमैटिक, और 6-स्पीड ऑटोमैटिक ट्रांसमिशन दिए हैं. कार में तीन ड्राइविंग मोड- नॉर्मल, ईको और स्पोर्ट मिलते हैं. वहीं, सेल्टॉस के जीटी लाइन के 1.4 लीटर का टर्बो पेट्रोल इंजन दिया गया है जो 7-स्पीड डुअल क्लच ऑटोमैटिक गियरबॉक्स के साथ जोड़ा गया है. कयास हैं कि किआ सेल्टॉस घर लाने के लिए आपको 10-16 लाख रुपए के बीच कीमत चुकानी होगी. जानकारों के मुताबिक बाज़ार में सेल्टॉस का मुकाबला ह्युंडई क्रेटा, निसान किक्स, रेनो कैप्चर और टाटा हैरियर से हो सकता है.

केटीएम आरसी 125 लॉन्च

स्पोर्ट्स बाइक बनाने वाली ऑस्ट्रियन कंपनी केटीएम ने भारत में अपनी नई बाइक केटीएम आरसी 125 लॉन्च कर दी है. केटीएम की यह नई पेशकश कंपनी की ही आरसी 16 से ही काफी हद तक प्रभावित नज़र आती है. केटीएम ने आरसी 125 को अपने आइकॉनिक स्टील ट्रेलिस फ्रेम पर तैयार किया है. केटीएम का कहना है कि उसकी यह नई बाइक जितनी आरामदायक ट्रेकिंग के दौरान महसूस होगी, तंग गलियों में भी इसकी राइड उतनी ही प्रभावशाली रहेगी.

आरसी 125 में दिए गए डे-टाइम रनिंग लाइट्स (डीआरएल) वाले ट्विन प्रोजेक्टर हेडलाइट्स और एंटीलॉक ब्रेकिंग सिस्टम इसे खूबसूरती और सेफ्टी का फुल पैकेज बनाते हैं. इसके अलावा बाइक के फ्रंट में यूएसडी फोर्क्स और पिछले हिस्से में मोनोशॉक सस्पेंशन लगाए गए हैं. साथ ही आरसी 125 के फ्रंट व्हील में 300 एमएम का डिस्क और रियर व्हील में 230 एमएम का डिस्क ब्रेक लगाया गया है. इसके अलावा इस बाइक में फुल डिजिटल इंस्ट्रुमेंट कंसोल, समान बॉडीवर्क, क्लिप-ऑन हैंडलबार (स्पोर्ट बाइक्स में दो अलग-अलग छोटे हैंडल साथ में जोड़कर एक पूरा हैंडल बनाया जाता है) और अंडरबेली एग्ज़्हॉस्ट (बाइक का वजन दोनों तरफ बराबर रखने के लिए एग्ज़्हॉस्ट बाइक के बिल्कुल बीच में नीचे की तरफ दिया जाता है ताकि स्पीड में भी बाइक को झुकाते समय बैलेंस खराब न हो) दिया गया है.

परफॉर्मेंस के मामले में आरसी 125 के साथ 124.7 सीसी क्षमता का सिंगल सिलेंडर और चार वाल्व वाला लिक्विड कूल्ड एडवांस्ड डीओएचसी इंजन जोड़ा गया है. कंपनी का दावा है कि यह इंजन क्लास लीडिंग 14.5 पीएस की पॉवर और 12 एनएम का अधिकतम टॉर्क पैदा करने में सक्षम है. इस इंजन के साथ 6-स्पीड कॉन्सटेंट मेश गियरबॉक्स भी जोड़ा गया है. यदि कीमतों की बात करें तो केटीएम ने आरसी 125 के लिए 1,47,213 एक्सशोरूम कीमत तय की है. जानकारी के मुताबिक जून के अंत तक यह बाइक बिक्री के लिए डीलरशिप पर उपलब्ध करा दी जाएगी.

छोटे आकार की आरसी 125 उन युवा ग्राहकों के लिए सटीक विकल्प साबित हो सकती है जो कम बजट में कोई स्पोर्ट बाइक खरीदने का मन बना रहे हैं. जानकारों के मुताबिक बाज़ार में केटीएम 125; यामाहा आ15 वी3 को टक्कर दे सकती है.

रेनो ने नई एमपीवी ट्राइबर से पर्दा हटाया

फ्रेंच कार निर्माता कंपनी रेनो ने भारत में अपने नए मल्टीपरपज़ व्हीकल (एमपीवी) ‘ट्राइबर’ से पर्दा हटा दिया है. यह इस कार का ग्लोबल डेब्यू है. जानकारी के अनुसार रेनो की यह नई पेशकश साल के अंत तक सड़कों पर दौड़ती नज़र आ सकती है. रेनो ने ट्राइबर को सीएमएफ-ए प्लेटफॉर्म पर तैयार किया है. गौरतलब है कि ट्राइबर से पहले कंपनी की लोकप्रिय हैचबैक क्विड इसी प्लेटफॉर्म पर तैयार की गई है. ट्राइबर की प्रमुख खासियत है कि यह 7-सीटर होने के बावजूद चार मीटर से कम लंबी है. इस तरह इस गाड़ी पर लगने वाले टैक्स की दरें तो कम होंगी ही, साथ ही यह गाड़ी शहरों के हैवी ट्रैफिक के बीच चलाने में भी खासी सहूलियत देगी.

लुक्स की बात करें तो पहली नज़र में ट्राइबर किसी एसयूवी जैसी ही फील देती है. इसके फ्रंट में लगी क्रोम ग्रिल रेनो की अन्य गाड़ियों में इस्तेमाल की गई वी-शेप ग्रिल से काफी अलग है. इनके अलावा ट्राइबर में कुछ रग्ड एलिमेंट दिए गए हैं जिनमें- साइड बॉडी क्लैडिंग और रूफ रेल्स शामिल हैं. रेनो ने ट्राइबर का जो मॉडल पेश किया है वह अलॉय व्हील्स और फॉक्स स्किड प्लेट्स (घर्षण से बचाने के लिए कार के नीचे लगाई गई विशेष प्लेट) के साथ आता है. सुरक्षा के मामले में इस कार के साथ कंपनी ने दो फ्रंट और दो साइड एयरबैग्स दिए हैं.

फीचर्स के मामले में ट्राइबर में रियर पार्किंग सेंसर्स, स्पीड लिमिट अलर्ट, सभी सीट्स के लिए थ्री-पॉइंट सीटबेल्ट, स्टार्ट/स्टॉप बटन, की-लैस एंट्री, ऑटोलॉक फंक्शन और रिवर्स कैमरा दिया गया है. कार के डैशबोर्ड पर 8-इंच का टचस्क्रीन इंफोटेनमेंट सिस्टम लगाया गया है जो एप्पल कारप्ले, एंड्रॉइड ऑटो, नेविगेशन, यूएसबी और ब्ल्यूटूथ कनेक्टिविटी जैसी खूबियों से लैस है. रेनो ने ट्राइबर में 625 लीटर की बूट क्षमता दी है. लेकिन यह सिर्फ़ तभी काम में आ सकता है जब तीसरी पंक्ति की सीटों को फोल्ड कर दिया जाए.

परफॉर्मेंस के मामले में ट्राइबर के साथ रेनो ने फिलहाल 1.0-लीटर का डुअल वीवीटी सिस्टम वाला तीन-सिलेंडर का पेट्रोल इंजन पेश किया है जो 6250 आरपीएम पर 71 बीएचपी की अधिकतम पॉवर और 3500 आरपीएम पर 96 एनएम का अधिकतम टॉर्क उत्पन्न करने की क्षमता रखता है. कंपनी ने इस इंजन के साथ 5-स्पीड मैनुअल और ऑटोमेटिक दोनों ही गियरबॉक्स विकल्प के तौर पर दिए हैं. ट्राइबर के टॉप मॉडल के साथ 15-इंच और बाकी मॉडल्स के साथ 14-इंच के व्हील्स दिए जाएंगे. ट्राइबर की कीमतों का अभी खुलासा नहीं किया गया है लेकिन कयास हैं कि रेनो इसके लिए 7-9 लाख रुपए कीमत रख सकती है.

ऑटोविशेषज्ञों के मुताबिक इस कीमत और खूबियों के साथ रेनो ट्राइबर बाज़ार में डैटसन रेडी गो+ की मुसीबतें बढ़ा सकती हैं. साथ ही यह थोड़ा बहुत मारुति-सुज़ुकी अर्टिगा की बिक्री को भी प्रभावित करेगी. इसके अलावा यह कार बी-सेगमेंट की हैचबैक कारों को खरीदने का मन बना रहे ग्राहकों को भी अपनी ओर आकर्षित कर सकती है.