मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एवं भाजपा उपाध्यक्ष शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि उनकी पार्टी राज्य की सत्ता से किसी को बेदखल नहीं कर रही है. लेकिन यदि कांग्रेस की अंदरूनी कलह की वजह से सरकार गिर जाती है तो वह कुछ नहीं कर सकती.

शिवराज सिंह ने शनिवार को लखनऊ में भाजपा के सदस्यता अभियान के जिला एवं क्षेत्रीय स्तर के प्रमुखों को संबोधित करने के बाद एक साक्षात्कार के दौरान यह बात कही.

पीटीआई को दिए इस साक्षात्कार में जब शिवराज सिंह चौहान से पूछा गया कि क्या भाजपा अगले विधानसभा चुनाव होने से पहले मध्यप्रदेश में सरकार बनाएगी, तब उनका कहना था, ‘अब यदि कांग्रेस की सरकार पार्टी की अंदरूनी कलह से गिर जाती है तो वह कुछ नहीं कर सकते. हम किसी को अपदस्थ नहीं कर रहे हैं, लेकिन वहां (मध्यप्रदेश में) जो कुछ चल रहा है, वह अच्छा नहीं है.’

मध्यप्रदेश में 15 साल तक सत्ता से बाहर रहने के बाद पिछले साल के आखिर में कांग्रेस की सत्ता में वापसी हुई. लेकिन, बीते लोकसभा चुनाव के बाद से कांग्रेस ने कई बार आरोप लगाया है कि भाजपा उसकी सरकार को गिराना चाहती है और उसके और बसपा के विधायकों को सरकार से हटने के लिए तरह-तरह से प्रलोभन दे रही है.