शुरूआती धीमी गति के बाद मानसून ने रफ्तार पकड़ ली है. मौसम विभाग के वैज्ञानिकों की मानें तो बीते चार दिनों में ही मानसून देश के 10 राज्यों तक पहुंच चुका है. अगले चार दिनों में यह दो और राज्यों में अपनी आमद दे सकता है.

मौसम विभाग के मुताबिक मानसून ने बीते चार दिनों में लगभग 700 किलोमीटर की दूरी तय की है. बंगाल की खाड़ी में बनी अनुकूल परिस्थिति से इसे तेजी से आगे बढ़ने में मदद मिल रही है. हालांकि अब भी अपनी तय रफ्तार से पीछे चल रहा है. उदाहरण के तौर पर अमूमन 10 जून को मानसून मुंबई पहुंच जाता है. लेकिन इस बार अब तक यह वहां नहीं पहुंचा है.

मौसम वैज्ञानिकों का अनुमान है कि एक-दो दिन के भीतर मानसून मुंबई पहुंच सकता है. जबकि 25 जून तक पूरे महाराष्ट्र को अपनी जद में ले सकता है. इसके साथ मध्य प्रदेश और दक्षिण गुजरात में भी प्रवेश कर जाएगा. फिलहाल यह दक्षिण और पूर्वोत्तर के सभी राज्यों, मध्य महाराष्ट्र, बिहार, छत्तीसगढ़, झारखंड,पश्चिम बंगाल, पूर्वी उत्तर प्रदेश आदि में छा चुका है.

हालांकि मानसूनी बारिश की बात करें तो यह अब तक तय सीमा से 38 फ़ीसदी तक कम है. एक से 23 जून तक पूरे देश में लगभग 114.2 मिलीमीटर बारिश हो जाना चाहिए थी. लेकिन अब तक 70.9 मिलीमीटर बारिश ही हुई है.