ऑल इंडिया कांग्रेस कमेटी (एआईसीसी) ने सोमवार को एक बड़ा फैसला करते हुए उत्तर प्रदेश में पार्टी की सभी जिला समितियों को तुरंत प्रभाव के साथ भंग कर दिया है. इसके साथ ही वहां 11 विधानसभा सीटों पर होने वाले उपचुनाव के मद्देनजर दो सदस्यीय एक दल के गठन का फैसला भी किया है. यह दल उन सीटों की चुनावी तैयारियों और व्यवस्थाओं पर नजर रखेगा. एआईसीसी ने ये फैसले सोमवार को एक बैठक के दौरान किए गए.

इसी बैठक में कांग्रेस के विधायक दल के नेता अजय कुमार लल्लू को भी एक अहम जिम्मेदारी सौंपते हुए एआईसीसी ने उन्हें पूर्वी उत्तर प्रदेश में संगठनात्मक बदलाव का प्रभारी नियुक्त किया है. साथ ही एआईसीसी ने यह भी तय किया कि पूर्वी हिस्से की तरह प्रदेश के पश्चिमी क्षेत्र में भी संगठनात्मक बदलाव किया जाएगा. लेकिन इसके लिए वहां के प्रभारी के नाम पर बाद में विचार होगा.

इसके अलावा लोकसभा के बीते चुनाव दौरान आए अनुशासनहीनता के मामलों की जांच को लेकर एआईसीसी ने तीन सदस्यों की समिति गठित करने का फैसला भी किया है. इस दौरान बताया गया है कि अगले हफ्ते एक बार फिर एआईसीसी की बैठक होगी. इसमें कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से पार्टी के अध्यक्ष पद पर बने रहने की अपील की जाएगी.

इससे पहले हालिया लोकसभा चुनाव में कांग्रेस को मिली करारी शिकस्त को देखते हुए राहुल गांधी ने अध्यक्ष पद छोड़ने की पेशकश की थी. हालांकि तब कांग्रेस ​सहित कई दूसरी पार्टियों के आला नेताओं ने उनसे ऐसा नहीं करने की अपील भी की थी. हालांकि मीडिया में आई खबरों के मुताबिक राहुल गांधी अब भी अपने इस फैसले पर अड़े हुए हैं.