तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने 25 जून 1975 को देश में आपातकाल (इमरजेंसी) लगाने का फ़ैसला किया था. वह आपातकाल 21 महीने (1977 तक) लगा रहा. हालांकि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का मानना है कि केंद्र की ‘मौज़ूदा नरेंद्र मोदी सरकार ने बीते पांच सालों से देश में सुपर इमरजेंसी जैसी व्यवस्था थोप रखी है.’

आपातकाल की 44वीं वर्षगांठ के मौके पर ममता बनर्जी ने नरेंद्र मोदी सरकार पर हमला बोला. उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा, ‘आज उस आपातकाल की वर्षगांठ है जो 1975 में लगाया गया था. लेकिन यह देश बीते पांच सालों से ‘सुपर इमरजेंसी’ से गुजर रहा है. हमें इतिहास से सबक सीखना चाहिए. अपनी लोकतांत्रिक संस्थाओं और देश को बचाने के लिए संघर्ष करना चाहिए.’

Mamata Banerjee@MamataOfficial

Today is the anniversary of the #Emergency declared in 1975. For the last five years, the country went through a ‘Super Emergency’. We must learn our lessons from history and fight to safeguard the democratic institutions in the country

2,5127:25 AM - Jun 25, 2019Twitter Ads info and privacy

ममता बनर्जी के ट्वीट का ज़वाब तुरंत ही भारतीय जनता पार्टी के नेता और केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने दिया. उन्होंने कहा, ‘जिस तरह ममता बनर्जी शासन कर रही हैं वह आपातकाल से कम नहीं है. वे सबसे ख़राब सरकार चला रही हैं. उनके राज में पश्चिम बंगाल हिंसा की चपेट में है. वहीं भाजपा और उसकी सरकार (केंद्र) ‘सबका साथ, सबका विकास’ के लिए प्रतिबद्ध है. लोकतंत्र की सुरक्षा के लिए प्रतिबद्ध है.’