भारत के ‘भगोड़े आर्थिक अपराधी’ मेहुल चोकसी की मुश्किलें बढ़ सकती हैं. ख़बरों के मुताबिक एंटीगुआ सरकार उसे दी गई नागरिकता वापस ले सकती है. एंटीगुआ के प्रधानमंत्री गैस्टन ब्राउन की ओर से जारी एक बयान में कहा गया है, ‘उन्हें (मेहुल चोकसी) नागरिकता दी गई थी. लेकिन आज की वास्तविकता ये है कि उनकी नागरिकता वापस ली जाएगी. उन्हें भारत को वापस सौंपा जाएगा. यह प्रक्रिया चल रही है. इस मामले (चोकसी को नागरिकता देने संबंधी) को इस तरह नहीं देखना चाहिए कि हम अपराधियों को सुरक्षित पनाहग़ाह उपलब्ध करा रहे हैं.’

उन्हाेंने यह भी कहा कि मेहुल चोकसी के पास ‘सभी कानूनी विकल्प इस्तेमाल करने का अधिकार है. लेकिन उनके सभी कानूनी विकल्प ख़त्म होते ही उन्हें भारत को प्रत्यर्पित कर दिया जाएगा, यह मैं भरोसा दे सकता हूं.’

हीरे-जवाहरात के कारोबारी मेहुल चोकसी पर भारत में पंजाब नेशनल बैंक से 13,500 करोड़ रुपए से ज़्यादा की धोखाधड़ी का आरोप है. उसे भारतीय अदालत द्वारा भगोड़ा आर्थिक अपराधी घोषित किया जा चुका है. उसने भारत से भागकर एंटीगुआ की नागरिकता ले ली है. भारतीय एजेंसियां उसे भारत प्रत्यर्पित कराने के लिए कानूनी लड़ाई लड़ रही हैं.