इंदौर नगर निगम के कर्मचारियों को क्रिकेट बैट से पीटने वाले भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नेता कैलाश विजयवर्गीय के बेटे आकाश को मध्य प्रदेश पुलिस ने हिरासत में ले लिया है. इससे पहले पुलिस ने आकाश विजयवर्गीय के खिलाफ एक एफआईआर दर्ज की थी. इसके तहत उनके ऊपर सरकारी कर्मचारियों के काम में बाधा डालने और उन पर हमला करने का आरोप दर्ज है.

बुधवार को ही आकाश विजयवर्गीय से जुड़ा एक वीडियो सुर्खियों में आया था. पहली बार विधायक बने आकाश विजयवर्गीय इसमें नगर निगम के एक अधिकारी को क्रिकेट बैट से पीटते दिख रहे थे.

खबरों के मुताबिक बुधवार को इंदौर नगर निगम के कर्मचारी अतिक्रमण के खिलाफ अभियान चला रहे थे. इसी दौरान आकाश विजयवर्गीय वहां पहुंचे. बताया जाता है कि किसी बात पर कर्मचारियों से उनका विवाद हो गया. फिर उन्होंने आपा खो दिया और क्रिकेट बैट से ही एक अधिकारी को पीटना शुरू कर दिया. इस दौरान मौके पर मौजूद पुलिसकर्मियों ने उन्हें रोकने की कोशिश की, लेकिन वे नहीं माने.

घटना के बाद आकाश विजयवर्गीय और नगर निगम के कर्मचारी पुलिस थाने पहुंचे और वहां अपना-अपना पक्ष रखा. बाद में आकाश विजयवर्गीय ने कहा कि उन्हें इस बात का कोई अफसोस नहीं है. उनका कहना था, ‘यह तो शुरुआत है. हम भ्रष्टाचार और गुंडागर्दी को खत्म करके रहेंगे. हमारा लाइन ऑफ एक्शन है- आवेदन, निवेदन और फिर दनादन.’

इधर इस पूरे मामले पर मध्य प्रदेश के गृहमंत्री बाला बच्चन ने कहा है, ‘आप देख सकते हैं, यही भाजपा का असली चेहरा है. यह पार्टी अपने जनप्रतिनिधियों को नियंत्रण में नहीं रख सकती. यह एक साजिश है. हम ऐसे लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करेंगे.’